रवि प्रदोष व्रत के दिन करें ये आसान उपाय, भगवान शिव के साथ रहेगी सूर्य देव की कृपा

Ravi Pradosh Vrat Upay: हिंदू कैलेंडर के अनुसार, प्रदोष व्रत हर महीने दोनों पक्षों की त्रयोदशी तिथि को मनाया जाता है। प्रदोष व्रत भगवान शिव शंकर को समर्पित है। वार के अनुसार प्रदोष व्रत का नाम है। इस बार त्रयोदशी तिथि 26 जून रविवार को पड़ रही है इसलिए इस बार इसे रवि प्रदोष व्रत कहा जाएगा। भगवान शिव को प्रसन्न करने के लिए यह तिथि अत्यंत महत्वपूर्ण है। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार प्रदोष व्रत का पालन करने से भगवान शिव प्रसन्न होते हैं और अपने भक्तों के जीवन को सुख, शांति और समृद्धि से भर देते हैं। जो कोई भी प्रदोष व्रत को नियम और निष्ठा से करता है, उसके सभी कष्टों का नाश होता है। अलग-अलग दिनों में पड़ने वाले प्रदोष की महिमा अलग होती है। इस व्रत का महत्व और लाभ भी उसी के अनुसार ही प्राप्त होता है। इस बार रवि प्रदोष है इसलिए इस दिन कुछ उपाय करने से भगवान शिव के साथ सूर्य देव की भी कृपा प्राप्त होती है। आइए जानते हैं उन उपायों के बारे में…

Ravi Pradosh Vrat Upay –

रवि प्रदोष व्रत के दिन करें ये उपाय

यदि संपत्ति से संबंधित कोई समस्या है और इसके कारण कोर्ट का चक्कर लगाना पड़ता है, तो इससे बचने के लिए रवि प्रदोष के दिन शिवलिंग पर चावल मिश्रित जल से अभिषेक करें। इससे आपको निश्चित रूप से अच्छे परिणाम देखने को मिलेंगे।

घर में सुख-शांति बनाए रखने के लिए रवि प्रदोष व्रत के दिन जौ के आटे को भगवान शंकर के चरणों में स्पर्श करें और फिर उसकी रोटियां बना लें। इसे गाय के बछड़े या बैल को खिलाने से घर में सुख-समृद्धि आती है।

रवि प्रदोष व्रत के दिन दूध में कुछ केसर और फूल मिलाकर शिवलिंग पर चढ़ाएं। मान्यता है कि ऐसा करने से दांपत्य जीवन में मधुरता बनी रहती है। धार्मिक शास्त्रों में भी मनचाहा जीवनसाथी पाने के लिए यह उपाय सबसे उत्तम माना गया है।

ऐसा माना जाता है कि रवि प्रदोष के दिन रुद्राक्ष या चंदन की माला से “ऊँ नमः शिवाय” मंत्र का 108 बार जाप करने से शरीर में सकारात्मक ऊर्जा आती है। साथ ही व्यक्ति को आत्मबल मिलता है और भय दूर हो जाता है।

इस दिन रविवार है, ऐसे में सूर्य की भी पूजा की जाती है। धन प्राप्ति का वरदान पाने के लिए सूर्य प्रदोष व्रत के दिन तांबे के एक कलश में जल भरकर, तांबे के दीपक में कलावा की बाती रखकर सूर्य स्रोत का पाठ करें। एक बात का ध्यान रखें कि मुख पूर्व दिशा की ओर हो। मान्यता के अनुसार ऐसा करने से स्वास्थ्य लाभ और धन में वृद्धि भी होगी।

यह भी पढ़ें –  Sawan Somwar Vrat List 2022: सावन का पहला सोमवार इस दिन, शिव की कृपा पाने के लिए इस विधि से करें पूजा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Latest Update

Latest Update