Chaitra Navratri Kab Hai 2022: 2 अप्रैल से शुरू हो रही है चैत्र नवरात्रि, मां दुर्गा की

Chaitra Navratri Kab Hai 2022: हिंदू कैलेंडर के मुताबिक चैत्र महीने की शुरुआत हो चुकी है। सनातन धर्म के अनुसार प्रतिवर्ष चैत्र शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा से नौ दिनों तक चैत्र नवरात्रि का पर्व मनाया जाता है। हिंदू धर्म में साल में 4 बार नवरात्रि मनाई जाती है। चैत्र और शारदीय नवरात्रि के अलावा दो गुप्त नवरात्रि हैं। चैत्र नवरात्रि (Chaitra Navratri Kab Hai) का पर्व 2 अप्रैल से 11 अप्रैल तक मनाया जाएगा। चैत्र नवरात्रि के दौरान मां दुर्गा के 9 रूपों की पूजा की जाती है। मां दुर्गा को सुख, समृद्धि और धन की देवी माना जाता है। ऐसी धार्मिक मान्यता है कि नवरात्रि में मां दुर्गा की पूजा करने से वह अपने भक्तों पर प्रसन्न होती हैं। साथ ही उनकी सभी मनोकामनाएं भी पूरी होती हैं। लेकिन चैत्र नवरात्रि के दौरान कुछ ऐसे काम भी होते हैं जिन्हें भूलकर भी नहीं करना चाहिए नहीं तो मां दुर्गा नाराज हो सकती हैं। आइए जानते हैं कौन से हैं वो कार्य

जो लोग चैत्र नवरात्रि के 9 दिनों तक उपवास करते हैं। उन्हें अपनी दाढ़ी, मूंछें या बाल नहीं काटने चाहिए। भले ही व्रत न किया गया हो लेकिन घर में कलश की स्थापना भी हो गई हो तो भी घर वालों को इन चीजों से बचना चाहिए।

नवरात्रि के दौरान पूरे नौ दिन घर में सात्विक भोजन बनाना चाहिए, तामसिक भोजन जैसे मास-शराब या प्याज लहसुन से परहेज करना चाहिए।

यदि किसी व्यक्ति ने चैत्र नवरात्रि में व्रत किया है तो उसे दिन में बिल्कुल भी नहीं सोना चाहिए बल्कि अपनी माता की भक्ति का ध्यान करना चाहिए।

नवरात्रि व्रत रखने वाले जातकों को नवरात्रि के दौरान चमड़े के सामान जैसे बेल्ट, जूते, चप्पल या पर्स नहीं पहनना या रखना चाहिए और न ही मंदिर के आसपास ऐसी कोई वस्तु रखनी चाहिए।

नवरात्रि में व्रत करने वालों को फलाहार करते हुए एक ही स्थान पर बैठकर फलाहार लेना चाहिए। यानी जिस जगह आप बैठे थे उसी जगह 9 दिन का व्रत खोलें, नहीं तो आपको व्रत का फल नहीं मिलेगा।

चैत्र नवरात्रि के दौरान अगर आपने घर में मां दुर्गा की अखंड ज्योति जलाई है तो घर को खाली नहीं छोड़ना चाहिए। घर का कोई एक सदस्य घर में मौजूद होना चाहिए।

Chaitra Navratri

शुभ मुहूर्त

चैत्र घटस्थापना का शुभ मुहूर्त: 2 अप्रैल 2022, शनिवार, प्रातः 06:22 बजे से
चैत्र घटस्थापना का शुभ मुहूर्त समाप्त: 2 अप्रैल 2022, शनिवार, प्रातः 08:31 बजे तक
कुल अवधि: 02 घंटे 09 मिनट
घटस्थापना का अभिजीत मुहूर्त: दोपहर 12:08 से 12:57 बजे तक।

यह भी पढ़ें – चैत्र माह 2022 शुभ मुहूर्त: शुरू हुआ चैत्र माह, जानें मुंडन, गृह प्रवेश, खरीदारी और शुभ विवाह के मुहूर्त

यह भी पढ़ें – Chaitra Maas 2022: चैत्र मास में इन चीजों का भूलकर भी न करें सेवन, अन्यथा हो सकता है नुकसान

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *