इन लोगों से अधिक निकटता व दूरी दोनों ही बेहद खतरनाक, संतुलित रखें अपना व्यवहार

Chankya Niti: आचार्य चाणक्य ने अपनी नीतिशास्त्र में मानव जीवन से जुड़ी कई महत्वपूर्ण बातों का उल्लेख किया है। उनकी नीतियां आज भी लोगों का मार्गदर्शन करती हैं। आचार्य चाणक्य ने अपनी नीतिशास्त्र में जीवन से जुड़े विभिन्न विषयों जैसे संबंध, मित्रता, शत्रु, धन, नौकरी और व्यवसाय आदि पर अपने विचार साझा किए हैं। चाणक्य नीति में आचार्य ने सुखी जीवन के कई रहस्य बताए हैं। इसके साथ ही कई ऐसी बातों का जिक्र किया गया है। जो लोगों के लिए उनके दुख का कारण बन सकती हैं। चाणक्य ने नैतिकता में कुछ ऐसे लोगों का उल्लेख किया है, जिनके साथ हमेशा संतुलित व्यवहार करना चाहिए। यानी इन लोगों से न तो दूर रहना चाहिए और न ही इनके ज्यादा करीब जाना चाहिए, क्योंकि इनसे दोस्ती और दुश्मनी दोनों ही खतरनाक साबित हो सकते हैं। आइए जानते हैं किन लोगों सेव्यवहार संतुलित होना चाहिए….

शक्तिशाली व्यक्ति

चाणक्य नीति (Chankya Niti) के अनुसार, राजा आदि जैसे शक्तिशाली व्यक्ति के साथ न तो घनिष्ठ संबंध रखना चाहिए और न ही दूर जाना चाहिए। ऐसा इसलिए है क्योंकि किसी शक्तिशाली व्यक्ति के बहुत करीब आने से उसके वर्चस्व के कारण आपको उसके अधीन काम करना पड़ सकता है, जबकि बहुत अधिक दूरी रखने से आप उसके द्वारा प्रदान की जाने वाली सुविधाओं से वंचित हो सकते हैं। इसलिए शक्तिशाली व्यक्ति के साथ हमेशा संतुलित व्यवहार रखना चाहिए।

आग

जहां एक संतुलित दूरी बनाकर आग आपको गर्म कर सकती है, वहीं दूसरी ओर, बहुत करीब जाना भी आपको जला सकता है। इसलिए आचार्य चाणक्य कहते हैं कि न तो आग से ज्यादा दूरी बनाकर रखनी चाहिए और न ही ज्यादा पास जाना चाहिए।

स्त्री

चाणक्य नीति के अनुसार स्त्री को कभी भी कमजोर नहीं समझना चाहिए। समाज में एक महिला की भूमिका उतनी ही है जितनी एक पुरुष की। लेकिन उनके बहुत ज्यादा करीब आने से आप गलत रास्ते पर जा सकते हैं और ईर्ष्या के शिकार हो सकते हैं। वहीं ज्यादा दूरी से भी आपको कई समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। इसलिए महिलाओं के साथ हमेशा संतुलित व्यवहार रखना चाहिए।

स्वार्थी और लालची लोगों से सावधान

आचार्य चाणक्य ने जहां एक तरफ कुछ लोगों से संतुलित व्यवहार रखने की सलाह दी है, वहीं कुछ लोगों से एकदम दूरी बनाने की भी बात कही है। चाणक्य नीति के अनुसार स्वार्थी और लालची व्यक्तियों से हमेशा सतर्क रहना चाहिए। वे केवल अपने बारे में सोचते हैं। साथ ही स्वार्थी व्यक्ति अपने स्वार्थ के लिए कुछ भी करने को तैयार रहता है। ऐसे लोग अपने फायदे के लिए किसी को भी धोखा दे सकते हैं।

ऐसे लोगों से दूर रहें

चाणक्य नीति के अनुसार, ऐसे लोगों से दूर रहें जो आपके मुँह पर मीठी-मीठी बातें करते हैं लेकिन आपकी पीठ पीछे आपके खिलाफ साजिश करते हैं और नुकसान पहुंचाने की योजना बनाते हैं।

यह भी पढ़ें – चाणक्य नीति: करियर में चाहते हैं बुलंदियों को छूना, तो आचार्य चाणक्य की इन बातों की बांध लें गांठ

यह भी पढ़ें – चाणक्य नीति: कभी नहीं रहता ऐसे लोगों की जिंदगी में सुकून, खौफ में जीनी पड़ती है जिंदगी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Latest Update

Latest Update