Global Statistics

All countries
622,980,641
Confirmed
Updated on October 1, 2022 1:08 pm
All countries
601,282,610
Recovered
Updated on October 1, 2022 1:08 pm
All countries
6,549,341
Deaths
Updated on October 1, 2022 1:08 pm

Global Statistics

All countries
622,980,641
Confirmed
Updated on October 1, 2022 1:08 pm
All countries
601,282,610
Recovered
Updated on October 1, 2022 1:08 pm
All countries
6,549,341
Deaths
Updated on October 1, 2022 1:08 pm

Chankya Niti: इन 3 में से किसी एक घटना का होना है बदनसीबी की निशानी, चाणक्‍य नीति में है इसका उल्लेख

- Advertisement -

Chankya Niti: भाग्य और दुर्भाग्य व्यक्ति के जीवन को बदल देते हैं। चाणक्य नीति में कहा गया है कि यदि किसी व्यक्ति के साथ कुछ घटनाओं में से एक हो जाए तो उसका भाग्य भी दुर्भाग्य में बदल जाता है।

Chankya Niti: चाणक्य नीति में जीवन से जुड़े हर पहलू के बारे में महत्वपूर्ण बातें बताई गई हैं। चाणक्य नीति जीवन को सुखी बनाने का तरीका भी बताती है और दुखों से निपटने का तरीका भी बताती है। जीवन में सुख-दुख दोनों शामिल हैं, ऐसे में चाणक्य नीति की ये बातें बहुत काम आती हैं। चाणक्य नीति में ऐसी घटनाओं का उल्लेख किया गया है, जिनमें से किसी एकघटना व्यक्ति के भाग्य को दुर्भाग्य में बदल देती है। आइए जानते हैं कौन सी ऐसी घटनाएं हैं जो व्यक्ति के जीवन में काफी परेशानी खड़ी कर देती हैं।

यह भी पढ़ें – Chanakya Niti: बच्चों की इन आदतों का सदैव रखे ध्यान, अन्यथा झेलनी पड़ सकती है बड़ी मुसीबत

यह भी पढ़ें – Chankya Niti: ऐसी महिला का साथ जीवन कर देता है तबाह, जान ले नहीं तो बाद में पछताएंगे

ये घटनाएं लाती हैं दुख

आचार्य चाणक्य ने अपनी नीति शास्त्र चाणक्य नीति में ऐसी स्थितियों के बारे में बताया है, जो जीवन को दुखों से भर देती हैं।

वृद्धावस्था में जीवन साथी का साथ छूटना

पति-पत्नी को जीवन साथी कहा जाता है क्योंकि यह एकमात्र ऐसा रिश्ता है जो जीवन भर चलता है। लेकिन जीवन के दूसरे चरण में जब पति-पत्नी में से किसी एक की मृत्यु हो जाती है या वे किसी अन्य कारण से उनका साथ छूट जाए तो उनका शेष जीवन जीना मुश्किल हो जाता है। जीवन साथी के बिना वृद्धावस्था में जीवित रहना बहुत कठिन है। ऐसी स्थिति एक अच्छे जीवन को भी दुखों से भर देती है।

आपका पैसा गलत हाथों में पहुंचना

सुखी जीवन के लिए पैसा होना बहुत जरूरी है, लेकिन जब मेहनत की कमाई आपके हाथ से निकलकर गलत हाथों में पहुंच जाए, तो जीवन में इससे बुरा कुछ नहीं हो सकता। क्योंकि एक तरफ तो जातक को धन की हानि भी होती है और यदि उसका धन गलत व्यक्ति या शत्रु तक पहुँच जाता है तो वह अपने धन का प्रयोग उसके विरुद्ध भी कर सकता है।

दूसरे के घर में रहना

यदि किसी कारणवश किसी को दूसरे के घर में रहना पड़े तो यह बड़े दुर्भाग्य की बात है। किसी और के घर में रहने से व्यक्ति न केवल दूसरे पर निर्भर हो जाता है, बल्कि उसे अपनी मर्जी से जीना भी पड़ता है। ऐसी स्थिति व्यक्ति के स्वाभिमान को भी नष्ट कर देती है। इसलिए हमेशा दूसरे के घर में रहने से बचना चाहिए।

Leave a Reply

spot_imgspot_img
spot_img

Latest Articles