सियासी गतिविधियां महाराष्ट्र (Maharashtra) में तेजी से बदलती नजर आ रही है। हाल ही में एक ओर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से राज्य के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने मुलाकात की। वहीं प्रशांत किशोर के साथ राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) प्रमुख शरद पवार की बैठक हुई।

जिसके बाद शिवसेना की तरफ से कहा गया कि उद्धव ठाकरे ही 5 साल तक मुख्यमंत्री रहेंगे। इसके बाद कांग्रेस अध्यक्ष नाना पटोले ने कहा कि अब स्थानीय चुनाव से लेकर लोकसभा तक सभी चुनाव कांग्रेस अकेले लड़ेगी।

लोकसभा चुनाव एवं विधानसभा मिलकर लड़ने की बात करती रहीं हैं। पर अपने इन दोनों सहयोगी दलों से कांग्रेस सहमत नहीं दिखाई देती। प्रदेश अध्यक्ष नाना पटोले ने साफ कर दिया की अगला चुनाव कांग्रेस अकेले लड़ेगी। अगर कांग्रेस अपने इसी रुख पर कायम रही तो तीन दलों की महाविकास अघाड़ी बनाकर भाजपा को महाराष्ट्र (Maharashtra) में टक्कर देने की शरद पवार की योजना धूल धूसरित हो सकती है।

अमरावती में महाराष्ट्र कांग्रेस के अध्यक्ष नाना पटोले ने कहा की मैं राज्य का कांग्रेस चीफ हूं। इसलिए मैं ही अपनी पार्टी के विचार भी रखूंगा। उन्होंने कहा की मुझे नहीं पता कि शरद पवार ने क्या कहा, पर कांग्रेस ने यह स्पष्ट कर दिया है। अगले सभी राज्य में स्थानीय निकाय चुनावों से लेकर विधानसभा चुनावों में पार्टी अकेले ही लड़ेगी।

शिवसेना बोली- 5 साल तक उद्धव ही सीएम रहेंगे

अटकलें लग रही हैं कि महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री पद पर ढाई साल बाद एनसीपी की ओर से दावेदारी पेश की जाएगी। इससे विवाद की चिंगारी महाविकास आघाड़ी सरकार में भड़केगी। इनका खंडन करते हुए सामना में शिवसेना ने लिखा कि इन दावों में कोई सच्चाई नहीं है। मुख्यमंत्री पद का वचन शिवसेना को ‘पांच’ साल के लिए दिया गया है। उद्धव ठाकरे ही पांच साल तक मुख्यमंत्री रहेंगे।

यह भी पढ़ें- उत्तराखंड : कांग्रेस को बड़ा झटका, डॉ. इंदिरा हृदयेश का हार्ट अटैक से निधन

यह भी पढ़ें- ओडिशा: कोरोना संक्रमित व्यक्ति ने तीन साल की बेटी को उतारा मौत के घाट, फिर की खुदकुशी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *