Ganga Dussehra 2022: गंगा दशहरा कब है? जानिए इस दिन गंगा स्नान की तिथि और महत्व

Ganga Dussehra Kab Hai 2022: हिंदू धर्म में गंगा को मां का दर्जा दिया गया है और गंगाजल को बेहद पवित्र और पूजनीय माना जाता है। गंगाजल का प्रयोग निश्चित रूप से किसी भी शुभ कार्य और पूजा अनुष्ठान में किया जाता है। गंगाजल के बिना कोई भी शुभ कार्य पूर्ण नहीं होता है। साथ ही सभी पापों से छुटकारा पाने के लिए गंगा दशहरा के दिन गंगा के पवित्र जल में स्नान करना चाहिए। गंगा भवतारिणी है, इसलिए हिंदू धर्म में गंगा दशहरा (Ganga Dussehra Kab Hai) का विशेष महत्व माना जाता है।

पौराणिक धार्मिक मान्यताओं के अनुसार इसी दिन धरती पर मां गंगा का अवतरण हुआ था। पौराणिक मान्यताओं के अनुसार भगीरथ ने अपने पूर्वजों की आत्मा का उद्धार करने के लिए गंगा को धरती पर उतारा था। इसी कारण गंगा को भागीरथी भी कहा जाता है। हिन्दू पंचांग के अनुसार हर वर्ष ज्येष्ठ मास के शुक्ल पक्ष की दशमी तिथि को गंगा दशहरा का पावन पर्व मनाया जाता है। इस दिन मां गंगा की विधिपूर्वक पूजा की जाती है। धार्मिक ग्रंथों के अनुसार इस दिन गंगा स्नान और उसके बाद दान-पुण्य करने का विशेष महत्व है। आइए जानते हैं गंगा दशहरा का महत्व, शुभ मुहूर्त और पूजा विधि।

गंगा दशहरा तिथि और स्नान का शुभ मुहूर्त

ज्येष्ठ मास के शुक्ल पक्ष की दशमी तिथि 9 जून को प्रातः 8.21 बजे से प्रारंभ होकर 10 जून को सायंकाल 7.25 तक रहेगी। 10 जून को उदय की तारीख मिल रही है। इसी के आधार पर 10 जून को गंगा दशहरा मनाया जाएगा। इसके साथ ही इस दिन हस्त नक्षत्र और व्यतिपत योग भी रहेगा। इस योग में स्नान और दान करना बहुत ही लाभकारी होता है।

गंगा दशहरा का महत्व

धार्मिक शास्त्रों के अनुसार गंगा दशहरा के दिन विधि-विधान से गंगा मां की पूजा की जाती है। इस दिन गंगा स्नान का भी विशेष महत्व है। ऐसी धार्मिक मान्यता है कि इस दिन मां गंगा की पूजा करने से भगवान विष्णु की कृपा मिलती है।

गंगा दशहरा पर स्नान और दान का महत्व

गंगा दशहरा के दिन प्रातः काल गंगा में स्नान कर सूर्य देव को अर्घ्य दिया जाता है। इसके साथ ही पान के पत्ते पर फूल और अक्षत रखकर जल में प्रवाहित कर दिया जाता है. दशहरा का अर्थ है 10 विकारों का विनाश, इसलिए दशहरे के दिन गंगा में पवित्र डुबकी लगाने से मनुष्य के सभी पाप धुल जाते हैं।

इसके अलावा गंगा दशहरा के दिन दान का विशेष महत्व है। भीषण गर्मी को देखते हुए इस दिन गर्मी में उपयोगी चीजों का दान किया जाता है। ऐसा माना जाता है कि इस दिन गर्मी में राहत देने वाली 10 चीजें दान करने से भी व्यक्ति को सांसारिक दुखों से मुक्ति मिल जाती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Latest Update

Latest Update