Global Statistics

All countries
261,961,946
Confirmed
Updated on November 29, 2021 8:22 PM
All countries
234,833,831
Recovered
Updated on November 29, 2021 8:22 PM
All countries
5,220,465
Deaths
Updated on November 29, 2021 8:22 PM

Global Statistics

All countries
261,961,946
Confirmed
Updated on November 29, 2021 8:22 PM
All countries
234,833,831
Recovered
Updated on November 29, 2021 8:22 PM
All countries
5,220,465
Deaths
Updated on November 29, 2021 8:22 PM

गरुड़ पुराण: इन शुभ कार्यों को गलत समय पर करना हो सकता है नुकसानदायक, बढ़ सकती है परिवार की परेशानियां

गरुड़ पुराण 2021: गरुड़ पुराण भी हिंदू धर्म के 18 पुराणों में से एक है। इसमें जीवन से लेकर मृत्यु तक और उसके बाद की बातें श्री हरि ने बताई हैं।

गरुड़ पुराण भी हिंदू धर्म के 18 पुराणों में से एक है। यह भगवान विष्णु और गरुड़ पक्षी के बीच बातचीत के बारे में बताता है। इसमें जीवन से लेकर मृत्यु तक और उसके बाद की बातें श्री हरि ने बताई हैं। ऐसा माना जाता है कि घर में किसी भी व्यक्ति की मृत्यु के बाद गरुड़ पुराण का पाठ करना चाहिए। क्योंकि इसमें मृत्यु और मृत्यु के बाद की घटनाओं के पूरे क्रम का वर्णन है। धार्मिक शास्त्रों में तुलसी को जल चढ़ाने, घर और अपने आस-पास के स्थान को साफ रखने आदि कुछ कार्यों को शुभ बताया गया है। इन चीजों को मां लक्ष्मी के सुख से जोड़ा गया है। लेकिन इस शुभ कार्य के लिए भी एक निश्चित समय निर्धारित किया गया है। कहा जाता है कि अगर इन कार्यों को गलत समय पर किया जाए तो इनका शुभ नहीं बल्कि अशुभ प्रभाव पड़ता है।

गरुड़ पुराण में भी कुछ ऐसे कार्यों को गलत समय पर न करने की सलाह दी गई है। गरुड़ पुराण सही और गलत के बीच का अंतर बताकर व्यक्ति के जीवन को बेहतर बनाने का काम करता है। आइए जानते हैं उन कामों के बारे में जिन्हें अगर गलत समय पर किया जाए तो परिवार पर मुसीबतों का पहाड़ टूट सकता है।

सूर्यास्त के बाद झाडू न लगाएं

गरुड़ पुराण के अनुसार दिन का समय घर में झाडू लगाने का सही समय है। कहा जाता है कि सूर्यास्त के बाद झाडू लगाने से देवी लक्ष्मी क्रोधित हो जाती हैं। और परिवार में दरिद्रता लाती हैं। ऐसा कहा जाता है कि शाम के समय कीड़े सक्रिय हो जाते हैं। और पुराने जमाने में बिजली नहीं थी। ऐसे में वह अँधेरे में झाडू लगाकर मर जाता था। इस दोष से बचने के लिए गरुड़ पुराण में दिन में झाडू लगाने का नियम बनाया गया था।

तुलसी को पानी देना

धार्मिक ग्रंथों में तुलसी को पवित्र पौधा बताया गया है। इतना ही नहीं गरुड़ पुराण में भी नित्य जल चढ़ाने और पूजा करने की बात कही गई है। लेकिन इस बात का हमेशा ध्यान रखें कि शाम के समय तुलसी को जल न चढ़ाएं। शाम को जल चढ़ाने से घर में वास्तु दोष होते हैं। लेकिन शाम को दीपक जरूर जलाना चाहिए। इस समय पूजा करना अच्छा माना जाता है।

इन दिनों में कभी भी बाल न काटें

गरुड़ पुराण में भी बाल कटवाने और हजामत बनाने का दिन बताया गया है। ऐसा कहा जाता है कि मंगलवार, गुरुवार और शनिवार को बाल नहीं काटने चाहिए या मुंडन नहीं करना चाहिए। रविवार, सोमवार, बुधवार और शुक्रवार बालों और शेविंग के लिए अच्छे दिन माने जाते हैं।

शाम के समय दही और नमक का सेवन ना करें

गरुड़ पुराण में कहा गया है कि सूर्यास्त के बाद खट्टी चीजें जैसे दही, छाछ आदि का सेवन नहीं करना चाहिए और न ही दूसरों को देना चाहिए। वहीं इस बात का भी ध्यान रखें कि रात में भी किसी को नमक न दें। अगर कोई पूछने आता है तो उससे भी बचें। कहा जाता है कि रात में नमक देने से लक्ष्मी घर से निकल जाती हैं।

यह भी पढ़ें – गरुड़ पुराण: इन लोगों के घरों का भोजन भूलकर भी न करे, झेलनी पड़ती है परेशानी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

RECENT UPDATED