गरुड़ पुराण: महापुराण माने जाने वाले गरुड़ पुराण में जीवन और मृत्यु के बारे में बहुत ही महत्वपूर्ण बातें बताई गई हैं। इसमें एक अच्छा जीवन, एक शांत और आसान मृत्यु प्राप्त करने से लेकर मृत्यु के बाद आत्मा के व्यवहार के बारे में भी विस्तार से बताया गया है। गरुड़ पुराण के अनुसार यदि व्यक्ति लंबा और स्वस्थ जीवन चाहता है तो उसे कुछ गतिविधियों से बचना चाहिए। नहीं तो ये काम उसे मौत के कगार पर ला देते हैं।

ये क्रियाएं सामान्य लग सकती हैं। लेकिन इनके परिणाम इतने खतरनाक होते हैं कि व्यक्ति अपनी जान गंवा देता है। गरुड़ पुराण के अनुसार अगर आप अपने जीवन की सुरक्षा चाहते हैं तो इन चीजों से बचना ही बेहतर है।

अगर आप किसी के अंतिम संस्कार में जाते हैं। तो वहां ज्यादा देर तक न रुकें। लंबे समय तक किसी मृत शरीर के संपर्क में रहना जीवन पर भारी पड़ सकता है , क्योंकि मृत शरीर में कई तरह के बैक्टीरिया पनपते हैं। और दूसरों को संक्रमित कर सकते हैं। इसलिए अगर आप बीमारियों से बचना चाहते हैं तो इस मामले में सावधानी बरतें। अंतिम संस्कार से आने के बाद स्नान करें और कपड़े बदलें।

कभी भी रखा हुआ बासी मांस नहीं खाना चाहिए। यह कई बीमारियों का घर है। ऐसा बासी, सड़ा हुआ मांस खाना जीवन पर भारी पड़ सकता है।

रात के समय दही खाने से कई तरह की बीमारियां होती हैं। आमतौर पर लोग इससे होने वाले नुकसान की गंभीरता को नहीं समझ पाते हैं। वहीं रात के समय दही खाने से होने वाले कफ विकार लंबे समय तक चलने वाले रोग देते हैं।

ज्यादा देर तक सोने से सेहत को काफी नुकसान होता है। स्वस्थ फेफड़े एक अच्छे जीवन के लिए आवश्यक हैं। इसके लिए सुबह ताजी हवा में व्यायाम करें। नहीं तो देर तक सोने (sleeping) की आदत (habit) शरीर (body) को कई बीमारियों का घर बना देगी।

यह भी पढ़ें – गरुड़ पुराण: जानिए कैसे व कौन से हैं यमलोक के चार प्रवेश द्वार, किस द्वार से किस आत्मा का होता है प्रवेश

यह भी पढ़ें – गरुड़ पुराण: व्यक्ति के ऐसे कर्मों को माना जाता है महापाप, जाने क्या होता है मृत्यु के बाद

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *