गरुड़ पुराण: ये 4 काम बीच में न छोड़ें नहीं तो खड़ी हो सकती हैं मुश्किलें

Garuda Purana: गरुड़ पुराण हिंदू धर्म में एक बहुत ही खास ग्रंथ माना जाता है। गरुड़ पुराण में मृत्यु से लेकर उसके बाद के कर्मों के साथ जीवन के बातों का वर्णन मिलता है।

Garuda Purana: गरुड़ पुराण के आचारकांड के नीतिसार अध्याय में जीवन प्रबंधन से संबंधित कई डंडों का वर्णन किया गया है। लोग इसे अपने जीवन में उतारकरकई समस्याओं को आने से रोक सकते हैं। गरुड़ पुराण के अनुसार इन 4 कार्यों को अधूरा नहीं छोड़ना चाहिए। नहीं तो यह जीवन में एक बड़ी समस्या बन सकती है।

जीवन में इन 4 चीजों को कभी अधूरा न छोड़ें

उधर धन जल्द वापस करें

गरुड़ पुराण के अनुसार यदि आपने किसी से धन उधार लिया है तो उसे यथाशीघ्र लौटा देना चाहिए, नहीं तो उसका ब्याज बढ़ जाएगा। ऐसे में इसे वापस करना ज्यादा मुश्किल होगा। इसके अलावा अगर आपने किसी परिचित रिश्तेदार से उधार लिया है तो रिश्ता खराब नहीं होना चाहिए। इसलिए इसे जल्द से जल्द वापस किया जाना चाहिए।

बीमारी खत्म होने तक दवा

अगर आप किसी बीमार व्यक्ति का इलाज करा रहे हैं तो बीमारी खत्म होने तक पूरा इलाज कराएं। बीच में दवा बंद न करें। अन्यथा, रोग फिर से उभर सकता है और बड़ी कठिनाई का कारण बन सकता है। और बीमारी खत्म होने के बाद सावधानी बरतें।

शत्रुता को गंभीरता से लें

अगर आपकी किसी से दुश्मनी है। तो शत्रुता को हमेशा के लिए समाप्त करने का प्रयास करना चाहिए। ऐसी व्यवस्था करनी चाहिए कि वह चाहकर भी आपके नुकसान के बारे में न सोचे। यदि शत्रु को गंभीरता से नहीं लिया गया तो वह मौका मिलते ही आपका बहुत बड़ा नुकसान कर सकता है।

आग पूरी तरह बुझायें

अगर कहीं आग लगी हो तो उसे पूरी तरह बुझा दें। क्योंकि एक भी चिंगारी बच जाती है, वह छोटी सी चिंगारी बड़ी आग पैदा कर सकती है और सब कुछ नष्ट कर सकती है। इस वजह से आपकी जान भी जा सकती है।

यह भी पढ़ें – चाणक्य नीति: दुनिया में इन चार चीजों से बढ़कर कुछ नहीं, मां का स्थान है सबसे ऊपर

यह भी पढ़ें – विदुर नीति: नींद न आना केवल एक बीमारी नहीं, इन 4 कारणों से भी उड़ जाती है किसी की भी नींद

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Latest Update

Latest Update