Warning: Trying to access array offset on value of type bool in /homepages/40/d912903600/htdocs/clickandbuilds/Bhagymat/wp-content/plugins/td-cloud-library/state/single/tdb_state_single.php on line 277

Warning: Trying to access array offset on value of type bool in /homepages/40/d912903600/htdocs/clickandbuilds/Bhagymat/wp-content/plugins/td-cloud-library/state/single/tdb_state_single.php on line 277

Warning: Trying to access array offset on value of type bool in /homepages/40/d912903600/htdocs/clickandbuilds/Bhagymat/wp-content/plugins/td-cloud-library/state/single/tdb_state_single.php on line 277

Warning: Trying to access array offset on value of type bool in /homepages/40/d912903600/htdocs/clickandbuilds/Bhagymat/wp-content/plugins/td-cloud-library/state/single/tdb_state_single.php on line 277

ग्रीन कॉफी के फायदे: 9 जबरदस्त फायदे, वजन घटाने से लेकर डायबिटीज कंट्रोल करने तक

- Advertisement -

Green Coffee Benefits: हम में से ज्यादातर लोग अपने दिन की शुरुआत एक कप चाय या कॉफी से करते हैं। वैसे तो देश में ज्यादातर लोग चाय के दीवाने हैं। लेकिन पिछले कुछ सालों में कॉफी पसंद करने वालों की संख्या में भी इजाफा हुआ है। न केवल सुबह की शुरुआत बल्कि शाम की थकान को दूर करने और रात का खाना पूरा करने के लिए भी इसे खूब पसंद किया जा रहा है। इसके अलावा आजकल बाजार में कई तरह के फ्लेवर और कॉफी उपलब्ध हैं। लेकिन इससे भी बड़ी बात इसका स्वास्थ्य से जुड़ाव है। जब से आजकल लोगों में स्वास्थ्य और फिटनेस को लेकर जागरूकता बढ़ी है। इसलिए, इस प्रकार के पेय की प्रकृति भी बदल गई है। अब लोग चाय या कॉफी में स्वास्थ्यवर्धक तत्वों को भी देखते हैं। ग्रीन कॉफी का चलन इसकी एक कड़ी है। आजकल चाय और अन्य ड्रिंक्स की जगह बड़ी संख्या में लोग इसका सेवन कर रहे हैं। जानिए इस अद्भुत पेय के फायदे।

ग्रीन कॉफी क्या है?

ग्रीन कॉफी कोई अलग चीज नहीं है। यह उसी कॉफी का एक रूप है। जिसे आमतौर पर पिया जाता है। फर्क सिर्फ इतना है कि सामान्य कॉफी के लिए बीन्स को भुना जाता है। जबकि ग्रीन कॉफी के लिए इन अनाजों को कच्चा या बिना भुना हुआ इस्तेमाल किया जाता है। सवाल यह उठता है कि जब दोनों में थोड़ा सा ही अंतर है तो फायदे अलग कैसे हो सकते हैं। वास्तव में, अधिकांश प्राकृतिक चीजें अपने मूल रूप में अधिक प्रभावी होती हैं। यदि उन्हें पकाया जाता है। तो वे गुण नष्ट हो जाते हैं। ऐसा ही एक रसायन है ग्रीन कॉफी में प्रचुर मात्रा में क्लोरोजेनिक एसिड, जो भुनी हुई कॉफी की तुलना में बहुत कम होता है। यह केमिकल सेहत के लिहाज से काफी अच्छा माना जाता है।

ये हैं फायदे / Green Coffee Benefits

ग्रीन कॉफी के फायदों में शामिल हैं-

  • ग्रीन कॉफी वजन घटाने के लिए कारगर मानी जाती है। कहा जाता है कि यह कॉफी फैट को तेजी से बर्न करती है।
    स्वास्थ्य को बेहतर बनाने के लिए अनाज यानि बीन्स के अलावा इनके अर्क का इस्तेमाल सप्लीमेंट के रूप में भी किया जाता है।
  • इस कॉफी में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट और एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण शरीर को आंतरिक क्षति से बचाते हैं।
  • ग्रीन कॉफी मधुमेह को नियंत्रित करने के लिए भी अच्छी मानी जाती है। इसके साथ ही यह रक्तचाप को संतुलित रखने में भी मदद कर सकता है और इस प्रकार यह हृदय रोगों को रोकने में भी कारगर हो सकता है।
  • यह शरीर में चयापचय की दर में सुधार करता है। यह अतिरिक्त वजन को शरीर पर जमा होने से रोकने में मदद करता है।
  • यह छोटी आंत में शर्करा के अवशोषण को कम करता है। इससे शरीर में फैट के रूप में शुगर कम जमा हो जाती है।
  • एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर होने के कारण यह चेहरे और त्वचा पर उम्र के निशान जल्दी नहीं दिखने देता।
  • यह सनबर्न, रूखी त्वचा और झुर्रियों के प्रभाव को भी कम करता है।
  • ग्रीन कॉफी संक्रमण और बीमारियों का कारण बनने वाले फ्री रेडिकल्स से लड़ने में मददगार है।
  • यह नेचुरल डिटॉक्स के रूप में काम करने के साथ-साथ अच्छे मूड को बनाए रखने में भी मददगार होता है। यह फोकस बनाए रखने में भी मदद करता है।

यह भी ध्यान रखें

अति हर चीज की हानिकारक होती है। ग्रीन कॉफी में मौजूद कैफीन की भारी मात्रा सेहत को नुकसान भी पहुंचा सकती है। इसलिए इसे दिन में 2-3 बार से ज्यादा इस्तेमाल न करें। इसके अलावा, खाने से ठीक पहले या बाद में इसका इस्तेमाल करने से बचें। यह चिंता या अनिद्रा जैसी समस्याएं भी पैदा कर सकता है।

अस्वीकरण: भाग्यमत के स्वास्थ्य और फिटनेस श्रेणी में प्रकाशित सभी लेख डॉक्टरों, विशेषज्ञों और शैक्षणिक संस्थानों आधार पर तैयार किए गए हैं। लेख में उल्लिखित तथ्यों और सूचनाओं को भाग्यमत के पेशेवर पत्रकारों द्वारा सत्यापित किया गया है। इस लेख को तैयार करते समय सभी निर्देशों का पालन किया गया है। पाठक की जानकारी और जागरूकता बढ़ाने के लिए संबंधित लेख तैयार किया गया है। भाग्यमत लेख में दी गई जानकारी और जानकारी के लिए दावा या जिम्मेदारी नहीं लेता है। उपरोक्त लेख में वर्णित संबंधित बीमारी के बारे में अधिक जानकारी प्राप्त करने के लिए अपने चिकित्सक (डॉक्टर) से परामर्श जरूर करें।

- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Latest Update

Latest Update