प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने गुरुवार को दिल्ली में मानवाधिकार कार्यकर्ता और सेवानिवृत्त आईएएस अधिकारी हर्ष मंदर (Harsh Mander) के परिसरों पर छापा मारा। ईडी ने यह छापेमारी मनी लॉन्ड्रिंग से जुड़ी जांच के चलते की है।

एक अधिकारी ने बताया कि दक्षिणी दिल्ली के अधचीनी, वसंत कुंज और महरौली में स्थित मंदिर के कम से कम तीन परिसरों पर छापेमारी की जा रही है। ईडी का मामला दिल्ली पुलिस की आर्थिक अपराध शाखा (ईओडब्ल्यू) द्वारा दर्ज प्राथमिकी पर आधारित माना जा रहा है। आर्थिक अपराध शाखा ने फरवरी में मंदर द्वारा संचालित सेंटर फॉर इक्विटी स्टडीज (सीएसई) के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की थी। वह इस संस्थान के निदेशक भी हैं।

मंदर (Harsh Mander) ने कई किताबें लिखी हैं और सामाजिक कार्यों के अलावा वे सामाजिक न्याय और मानवाधिकार जैसे विषयों पर समाचार पत्रों में संपादकीय भी लिखते हैं।

पुलिस ने दक्षिणी दिल्ली में सीएसई द्वारा स्थापित अमन घर और खुशी रेनबो होम के खिलाफ कई धाराओं में मामला दर्ज किया है। इनमें से राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग के रजिस्ट्रार, किशोर की धारा 75 और 83 (2) की शिकायत पर भारतीय दंड संहिता की धारा 188 (लोक सेवक द्वारा विधिवत आदेश की अवज्ञा) के तहत दर्ज मामले न्याय अधिनियम प्रमुख हैं।

यह भी पढ़ें – उत्तराखंड: चारधाम यात्रा पर लगाई रोक नैनीताल हाईकोर्ट ने हटाई, कोविड नियमों का पालन करने के आदेश

यह भी पढ़ें – यूपी चुनाव 2022: अगर बनती है आम आदमी पार्टी की सरकार तो देगी 300 यूनिट मुफ्त बिजली

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *