Hast Rekha In Hindi: हथेली में मौजूद ऐसी रेखा व्यक्ति को बनाती है करोड़पति, ऐसे

Hast Rekha In Hindi: जिस प्रकार ज्योतिष की सहायता से किसी भी व्यक्ति के जीवन का पता लगाया जा सकता है। उसी प्रकार हस्तरेखा के आधार पर हथेली में बनी रेखाओं और चिन्हों का आकलन करके व्यक्ति के जीवन की जानकारी दी जाती है। है। हस्तरेखा शास्त्र में व्यक्ति के हाथ में मौजूद रेखाओं और चिन्हों से उसकी आर्थिक स्थिति, स्वास्थ्य, करियर, स्वभाव और वैवाहिक जीवन के बारे में बताया जा सकता है। इसके अलावा आप कितने अमीर होंगे यह भी हथेली की रेखाओं से पता लगाया जा सकता है। हालांकि हाथ में अलग से धन रेखा नहीं होती है, लेकिन अन्य रेखाओं की विशेष स्थिति, पर्वत और हाथ में मौजूद पर्वतों और शुभ चिन्हों के जरिए ही आर्थिक स्थिति का पता लगाया जाता है। तो आइए जानते हैं हाथ में मौजूद उन शुभ रेखाओं के बारे में जो व्यक्ति को करोड़पति बनाती हैं…

यदि मंगल रेखा किसी व्यक्ति के हाथ में जीवन रेखा के साथ अंत तक बनी रहे तो ऐसा व्यक्ति धन के मामले में बहुत भाग्यशाली होता है। पैतृक संपत्ति से भी उन्हें काफी लाभ मिलने की संभावना है। साथ ही अगर वे ठान लें तो जीवन में कुछ भी हासिल कर सकते हैं।

हस्तरेखा शास्त्र (Hast Rekha In Hindi) मुताबिक ऐसा कम ही लोगों के हाथ में यह देखने को प्राप्त होता है। जिनके हाथों में भाग्य रेखा कलाई के ऊपरी हिस्से से शुरू होकर सीधे शनि पर्वत पर पहुंचती है। अगर किसी के हाथ में ऐसी रेखा दिखाई दे तो इसका मतलब है कि वह व्यक्ति बहुत धनी होगा।

हस्तरेखा शास्त्र के अनुसार जिन लोगों के हाथ मुलायम होते हैं, भाग्य रेखा स्पष्ट होती है, हाथ की बीच वाली उंगली व अनामिका यानी रिंग फिंगर वाली उंगली बराबार हों। इसके अतिरिक्त गुरु पर्वत पर त्रिकोण का निशान हो तो ऐसे जातक बहुत धनवान बनते हैं। ऐसे लोगों को अचानक से ढेर सारा धन मिलने की संभावना है।

अगर किसी व्यक्ति की जीवन रेखा और बुध रेखा स्पष्ट हो, हथेली नरम हो, बुध की उंगली सूर्य की उंगली के पोर से लंबी हो, साथ ही मस्तिष्क रेखा भी स्पष्ट हो, तो ऐसा इंसान अकूत संपत्ति का मालिक बनता है। ऐसा माना जाता है कि ऐसे लोगों को कभी भी पैसों की कमी नहीं होती है।

इसके अलावा जिनके हाथ में सभी ग्रहों के पर्वत उठे होते हैं, ऐसे लोग करोड़पति बनते हैं। ऐसा कहा जाता है कि ऐसे लोग जिस भी काम में हाथ डालते हैं उसमें उन्हें सफलता मिलती है।

यह भी पढ़ें – Navratri Ashtami 2022: इस दिन है अष्टमी, जानिए अष्टमी और कन्या पूजन की विधि

यह भी पढ़ें – Navratri Durga Aarti 2022: आरती के बिना अधूरी है मां दुर्गा की पूजा, पढ़ें नवरात्रि की आरती, मां दुर्गा के भजन और मंत्र

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *