बुखार के दौरान मुंह हो जाता है कड़वा, तो इन घरेलू उपायों को आजमाकर करें दूर

- Advertisement -

Health Tips in Hindi: कई बार बुखार होने और फिर बुखार ठीक होने के बाद भी मुंह का स्वाद चला जाता है। इस दौरान व्यक्ति को पानी या अन्य चीजें कड़वी लगने लगती हैं।

Health Tips in Hindi: बदलते मौसम में अक्सर लोगों में बुखार-जुकाम, खांसी आदि की समस्या देखने को मिलती है। इस दौरान व्यक्ति के मुंह का स्वाद खत्म हो जाता है। शरीर में दर्द की समस्या भी होती है। कई बार बुखार होने से फिर बुखार ठीक हो जाने पर भी मुंह का स्वाद चला जाता है। इस दौरान व्यक्ति को पानी या अन्य चीजें कड़वी लगने लगती हैं। आइए आज हम आपको कुछ ऐसे घरेलू उपाय बताते हैं। जो आपको ऐसी समस्याओं से निजात दिलाने में मदद करेंगे।

टमाटर सूप

टमाटर में कई तरह के विटामिन मौजूद होते हैं। यह आपकी सेहत के लिए भी काफी फायदेमंद होते हैं। टमाटर का सूप मुंह की कड़वाहट और कसैलेपन को दूर करता है। इसलिए बुखार से निकलने के बाद रोजाना करीब 1 कप सूप पिएं।

हल्दी

हल्दी को कई रोगों का नाश करने वाला बताया गया है। इसमें एंटीऑक्सीडेंट और एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं। ऐसे में नींबू के रस में हल्दी मिलाकर पेस्ट बनाएं और फिर इससे अपने दांत साफ करें। ऐसा करने से आपके मुंह का स्वाद बेहतर हो जाएगा।

नमक के गरारे

स्वास्थ्य विशेषज्ञों के अनुसार नमक में मौजूद एंटीसेप्टिक गुण मुंह के बैक्टीरिया को खत्म करते हैं। इसलिए रोजाना गर्म पानी में नमक मिलाकर उससे गरारे करने से मुंह का स्वाद अच्छा हो जाता है। इस प्रक्रिया को आप दिन में दो बार कर सकते हैं।

एलोवेरा जूस

एलोवेरा में एंटीऑक्सीडेंट, एंटी-इंफ्लेमेटरी और एंटीमाइक्रोबियल गुण होते हैं। जो मुंह की कड़वाहट और कसैलेपन को दूर करने में काफी कारगर साबित होते हैं। एलोवेरा जूस पीकर आप अपने मुंह का स्वाद वापस ला सकते हैं।

यह भी पढ़ें – शरीर में दिखने वाले इन लक्षणों को न करें नजरअंदाज, हो सकती है आयरन की कमी

यह भी पढ़ें – क्या आप भी नींद की समस्या से हैं परेशान? बस करें ये काम, दूर हो जाएगी समस्या

अस्वीकरण: भाग्यमत के स्वास्थ्य और फिटनेस श्रेणी में प्रकाशित सभी लेख डॉक्टरों, विशेषज्ञों और शैक्षणिक संस्थानों आधार पर तैयार किए गए हैं। लेख में उल्लिखित तथ्यों और सूचनाओं को भाग्यमत के पेशेवर पत्रकारों द्वारा सत्यापित किया गया है। इस लेख को तैयार करते समय सभी निर्देशों का पालन किया गया है। पाठक की जानकारी और जागरूकता बढ़ाने के लिए संबंधित लेख तैयार किया गया है। भाग्यमत लेख में दी गई जानकारी और जानकारी के लिए दावा या जिम्मेदारी नहीं लेता है। उपरोक्त लेख में वर्णित संबंधित बीमारी के बारे में अधिक जानकारी प्राप्त करने के लिए अपने चिकित्सक (डॉक्टर) से परामर्श जरूर करें।

- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Latest Update

Latest Update