Global Statistics

All countries
622,932,684
Confirmed
Updated on October 1, 2022 12:08 pm
All countries
601,247,253
Recovered
Updated on October 1, 2022 12:08 pm
All countries
6,549,279
Deaths
Updated on October 1, 2022 12:08 pm

Global Statistics

All countries
622,932,684
Confirmed
Updated on October 1, 2022 12:08 pm
All countries
601,247,253
Recovered
Updated on October 1, 2022 12:08 pm
All countries
6,549,279
Deaths
Updated on October 1, 2022 12:08 pm

Kajari Teej 2022: आ रहा है कजरी तीज का पर्व, नोट कर लें पूजन सामग्री की पूरी लिस्ट

- Advertisement -

Kajari Teej 2022: हिंदू कैलेंडर के अनुसार, कजरी तीज हर साल भाद्रपद माह के कृष्ण पक्ष की तृतीया तिथि को मनाई जाती है। इस साल यह पर्व 14 अगस्त को है। शादीशुदा महिलाओं के लिए खास होती है कजरी तीज। इस दिन महिलाएं अपने पति की लंबी उम्र के लिए पूरे दिन निर्जला व्रत रखती हैं। करवाचैथ की तरह शाम को चंद्रमा को अर्घ्य देकर व्रत का पारण करती हैं। इसके अलावा अविवाहित लड़कियां भी मनचाहा वर पाने के लिए यह व्रत रखती हैं। इस दिन तीज माता यानी माता पार्वती की पूजा की जाती है। मान्यता है कि कजरी तीज के दिन विधि विधान से पूजा करने से भगवान शिव और माता पार्वती प्रसन्न होते हैं। वह भक्तों को उनकी मनोकामनाएं पूरी करने का आशीर्वाद भी देते हैं। कजरी तीज की पूजा के लिए सभी सामग्री का होना बहुत जरूरी है। आइए जानते हैं कजरी तीज पूजा (Kajari Teej) की थाली को कैसे सजाएं और इसमें कौन-कौन सी सामग्री शामिल करनी चाहिए…

कजरी तीज 2022 तिथि

भाद्रपद मास के कृष्ण पक्ष की तृतीया तिथि 13 अगस्त को दोपहर 12 बजकर 53 मिनट से शुरू होगी जो अगले दिन 14 अगस्त को रात 10.35 बजे समाप्त होगी। ऐसे में उदय तिथि के अनुसार 14 अगस्त को कजरी तीज व्रत रखा जाएगा।

कजरी तीज पूज सामग्री

कजरी तीज की पूजा के लिए सर्वप्रथम मां पार्वती और शिवजी की मूर्ति रखें साथ ही एक चौकी भी तैयार की जाती है। वहीं पूजा सामग्री की बात की जाय तो आप पीला वस्त्र, कच्चा सूता, नए वस्त्र, केला के पत्ते, बेलपत्र, भांग, धतूरा, शमी के पत्ते, जनेऊ, जटा नारियल, सुपारी, कलश, अक्षत या चावल, दूर्वा घास, घी, कपूर, अबीर-गुलाल, श्रीफल, चंदन, गाय का दूध, गंगाजल, दही, मिश्री, शहद, पंचामृत रखें।

साथ ही इस दिन मां पार्वती को सुहाग का सामान अर्पित करने के लिए एक हरे रंग की साड़ी, चुनरी और सोलह श्रृंगार से जुड़े सुहाग के सामान में सिंदूर, बिंदी, चूडियां, महौर, कुमकुम, कंघी, बिछुआ, मेहंदी, दर्पण और इत्र जैसी चीजों को जरूर रखनी चाहिए।

कजरी तीज का महत्व

कजरी तीज के दिन विवाहित महिलाएं व्रत रखती हैं और अपने पति की लंबी उम्र, सफलता और समृद्धि के लिए प्रार्थना करती हैं। वहीं अविवाहित लड़कियां अच्छे पति की प्रार्थना करते हुए व्रत रखती हैं। इस व्रत को करने से जीवन में सुख-समृद्धि आती है।

यह भी पढ़ें – Rakshabandhan 2022: रक्षाबंधन के दिन भाई गलती से भी न करें ये काम अन्यथा भुगतना पड़ सकता है अशुभ परिणाम

Leave a Reply

spot_imgspot_img
spot_img

Latest Articles