Global Statistics

All countries
622,980,641
Confirmed
Updated on October 1, 2022 1:08 pm
All countries
601,282,610
Recovered
Updated on October 1, 2022 1:08 pm
All countries
6,549,341
Deaths
Updated on October 1, 2022 1:08 pm

Global Statistics

All countries
622,980,641
Confirmed
Updated on October 1, 2022 1:08 pm
All countries
601,282,610
Recovered
Updated on October 1, 2022 1:08 pm
All countries
6,549,341
Deaths
Updated on October 1, 2022 1:08 pm

Krishna Janmashtami 2022: श्रीकृष्ण के मथुरा जाने के बाद राधा का क्या हुआ? पढ़िए यह दिलचस्प कथा

- Advertisement -

Krishna Janmashtami 2022: कृष्ण और राधा के नाम आज भी प्रेम के प्रतीक के रूप में लिए जाते हैं। कृष्ण और राधा के प्रेम प्रसंग हम बचपन से सुनते आ रहे हैं। विभिन्न पौराणिक ग्रंथों में दोनों की प्रेम कहानियों का उल्लेख मिलता है। कृष्ण और राधा की प्रेम कहानी अटूट है। श्रीकृष्ण जब 8 वर्ष के थे तब से दोनों के बीच प्रेम था। राधा कृष्ण की बांसुरी की धुन पर मोहित हो जाती थीं और उनकी ओर आकर्षित होती थीं। राधा ने जीवन भर कृष्ण के प्रति अपने प्रेम की यादों को संजोए रखा। हालांकि, बाद में परिस्थितियां बदल जाती हैं और कृष्ण राधा को छोड़कर चले जाते हैं। इसके बाद राधा का क्या होता है? इस बारे में बहुत कम लोग जानते हैं। इसी कड़ी में आज हम आपके सामने पौराणिक धार्मिक ग्रंथों में दर्ज वह प्रसंग ला रहे हैं, जिसमें कृष्ण के जाने के बाद राधा का जिक्र है।

मथुरा जाते समय, भगवान कृष्ण राधा से वादा करते हैं कि वह वापस आएंगे। हालांकि इसके बाद राधा का जिक्र भी बहुत कम हो जाता है। दूसरी ओर, भगवान कृष्ण मामा कंस का वध कर द्वारका जाते हैं।

कृष्ण के जाने के बाद राधा का जीवन पूरी तरह से बदल जाता है। उनकी शादी एक युवक के साथ होती है। इसी बीच राधा अपने वैवाहिक जीवन की सभी रस्में पूरी करती है। वहीं जब वह बूढ़ी हो जाती हैं। उस दौरान राधा ने फिर से अपने प्रिय श्री कृष्ण से मिलने द्वारका जाने का फैसला किया।

इसी बीच दोनों मिलते हैं और वे संकेतों में बात करने लगते हैं। इसके बाद कृष्ण उन्हें महल की देविका के रूप में नियुक्त करते हैं। महल में रहते हुए राधा को महसूस होता है कि कृष्ण के साथ उनका अध्यात्मिक जुड़ाव नहीं हो पा रहा है।

ऐसे में राधा ने महल छोड़ने का फैसला किया। इसके बाद राधा वहां से चली जाती है और उन्हें नहीं पता होता कि वह कहां जा रही है। समय बीतने के साथ राधा बहुत कमजोर और असहाय हो जाती है। इसके बाद अचानक उनकी मुलाकात भगवान कृष्ण से होती है।

इस दौरान श्रीकृष्ण राधा से कुछ मांगने के लिए कहते हैं। वहीं राधा ने सिर हिलाकर कृष्ण के इस अनुरोध को मना दिया। इसके बाद श्री कृष्ण फिर उनसे कुछ मांगने को कहते हैं। कृष्ण के इस अनुरोध पर राधा ने उन्हें बांसुरी बजाने के लिए कहा। जैसे भगवान कृष्ण अपनी मधुर बांसुरी बजाते हैं। अचानक राधा आध्यात्मिक रूप से उनमें विलीन हो जाती है।

यह भी पढ़ें – Kajari Teej 2022: आ रहा है कजरी तीज का पर्व, नोट कर लें पूजन सामग्री की पूरी लिस्ट

यह भी पढ़ें – Pitru Paksha 2022: पितृ पक्ष कब से हो रहे है शुरू? जानिए श्राद्ध का महत्व और पूर्ण तिथियां

(Krishna Janmashtami)

Leave a Reply

spot_imgspot_img
spot_img

Latest Articles