91 साल की उम्र में महान धावक मिल्खा सिंह का पीजीआई चंडीगढ़ में निधन हो गया। कोरोना की रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद मिल्खा सिंह (Milkha Singh) को पीजीआई के सामान्य ICU में शिफ्ट कर दिया गया था।

कोरोना से करीब एक महीने से जूझ रहे मिल्खा सिंह (Milkha Singh) की तबीयत शुक्रवार को अचानक बिगड़ गई थी। वे एक दिन पहले तक अच्छी तरह उबर रहे थे। उनके स्वास्थ्य लाभ पर पीजीआई भी संतुष्टि जता रहा था। पर उन्हें शुक्रवार को बुखार आया और ऑक्सीजन का स्तर भी गिर गया। मिल्खा सिंह (Milkha Singh) का ऑक्सीजन का स्तर 56 तक पहुंच गया था। देर रात अचानक महान खिलाड़ी मिल्खा सिंह (Milkha Singh) के निधन की खबर आई।

19 मई को कोरोना संक्रमित हुए थे

19 मई को मशहूर मिल्खा सिंह कोरोना संक्रमित हुए थे। उसके बाद मिल्खा सिंह को मोहाली के फोर्टिस अस्पताल में भर्ती कराना पड़ा था। परिजनों के आग्रह पर हालत में सुधार होने के बाद उन्हें घर पर शिफ्ट कर दिया गया था। इस वक्त उनकी डॉक्टर बेटी अमेरिका से चंडीगढ़ आ गई थीं। और वही उनका ख्याल रख रही थीं।

उनकी तबीयत तीन जून को फिर बिगड़ गई। और पीजीआई में दाखिल कराना पड़ा। तब से पीजीआई में उनका इलाज चल रहा है। उनकी रिकवरी ठीक चल रही थी। उनकी रिपोर्ट भी बुधवार को निगेटिव आ गई थी। मिल्खा सिंह को आईसीयू से बाहर लाकर कार्डियक सेंटर में शिफ्ट कर दिया गया।

सब शुक्रवार सुबह तक ठीक चल रहा था। मिल्खा सिंह ने कॉफी पी और परिवार के लोगों से बातचीत भी की। उनकी तबीयत सुबह नौ बजे के बाद खराब होने लगी। मिल्खा सिंह की हालत गंभीर होने की सूचना मिलते ही पीजीआई उनका पूरा परिवार पहुंच गया है। सभी लोग देर रात तक पीजीआई में थे।  देर रात मिल्खा सिंह का निधन हो गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *