Global Statistics

All countries
648,755,570
Confirmed
Updated on December 2, 2022 7:05 pm
All countries
624,838,872
Recovered
Updated on December 2, 2022 7:05 pm
All countries
6,643,011
Deaths
Updated on December 2, 2022 7:05 pm

Global Statistics

All countries
648,755,570
Confirmed
Updated on December 2, 2022 7:05 pm
All countries
624,838,872
Recovered
Updated on December 2, 2022 7:05 pm
All countries
6,643,011
Deaths
Updated on December 2, 2022 7:05 pm

Maa Mahagauri Chalisa: अष्टमी तिथि पर करे मां महागौरी चालीसा का पाठ, बनेंगे बिगड़े काम

- Advertisement -

Maa Mahagauri Chalisa: अष्टमी तिथि के दिन मां महागौरी की विधि-विधान से पूजा करने वाले भक्तों के सारे बिगड़े काम बन जाते हैं। साथ ही विवाह में आ रही सभी बाधाएं भी दूर होती हैं।

Maa Mahagauri Chalisa: शारदीय नवरात्रि के पावन दिन चल रहे हैं। इन नौ दिनों के दौरान, माता रानी के नौ अलग-अलग स्वरूपों की पूजा की जाती है। वहीं आठवें दिन यानी अष्टमी तिथि को मां दुर्गा के आठवें स्वरूप माता महागौरी की पूजा करने का विधान है। इस बार अष्टमी तिथि 03 अक्टूबर को पड़ रही है। इस दिन पूजा का विशेष महत्व माना जाता है। कहा जाता है कि शुभ फल पाने के लिए यह तिथि बहुत ही लाभकारी होती है। अष्टमी के दिन मां महागौरी की आराधना करने वाले भक्तों के सभी बिगड़े काम बन जाते हैं। साथ ही विवाह में आ रही सभी बाधाएं भी दूर होती हैं। इससे दांपत्य जीवन की सभी परेशानियां समाप्त हो जाती हैं। ऐसा माना जाता है कि मां महागौरी की चालीसा को पढ़ने या सुनने से रिश्ते में खुशियां आने लगती हैं। मां महागौरी की चालीसा इस प्रकार है –

मां महागौरी चालीसा | Maa Mahagauri Chalisa

मन मंदिर मेरे आन बसो, आरम्भ करूं गुणगान,
गौरी माँ मातेश्वरी, दो चरणों का ध्यान।
पूजन विधी न जानती, पर श्रद्धा है आपर,
प्रणाम मेरा स्विकारिये, हे माँ प्राण आधार।

नमो नमो हे गौरी माता, आप हो मेरी भाग्य विधाता,
शरनागत न कभी गभराता, गौरी उमा शंकरी माता।
आपका प्रिय है आदर पाता, जय हो कार्तिकेय गणेश की माता,
महादेव गणपति संग आओ, मेरे सकल कलेश मिटाओ।

सार्थक हो जाए जग में जीना, सत्कर्मो से कभी हटु ना,
सकल मनोरथ पूर्ण कीजो, सुख सुविधा वरदान में दीज्यो।
हे माँ भाग्य रेखा जगा दो, मन भावन सुयोग मिला दो,
मन को भाए वो वर चाहु, ससुराल पक्ष का स्नेहा मै पायु।

परम आराध्या आप हो मेरी, फ़िर क्यूं वर मे इतनी देरी,
हमरे काज सम्पूर्ण कीजियो, थोडे में बरकत भर दीजियो।
अपनी दया बनाए रखना, भक्ति भाव जगाये रखना,
गौरी माता अनसन रहना, कभी न खोयूं मन का चैना।

देव मुनि सब शीश नवाते, सुख सुविधा को वर मै पाते,
श्रद्धा भाव जो ले कर आया, बिन मांगे भी सब कुछ पाया।
हर संकट से उसे उबारा, आगे बढ़ के दिया सहारा,
जब भी माँ आप स्नेह दिखलावे, निराश मन मे आस जगावे।

शिव भी आपका काहा ना टाले, दया द्रष्टि हम पे डाले,
जो जन करता आपका ध्यान, जग मे पाए मान सम्मान।
सच्चे मन जो सुमिरन करती, उसके सुहाग की रक्षा करती,
दया द्रष्टि जब माँ डाले, भव सागर से पार उतारे।

जपे जो ओम नमः शिवाय, शिव परिवार का स्नेहा वो पाए,
जिसपे आप दया दिखावे, दुष्ट आत्मा नहीं सतावे।
सता गुन की हो दता आप, हर इक मन की ग्याता आप,
काटो हमरे सकल कलेश, निरोग रहे परिवार हमेश।

दुख संताप मिटा देना माँ, मेघ दया के बरसा देना माँ,
जबही आप मौज में आय, हठ जय माँ सब विपदाए।
जीसपे दयाल हो माता आप, उसका बढ़ता पुण्य प्रताप,
फल-फूल मै दुग्ध चढ़ाऊ, श्रद्धा भाव से आपको ध्यायु।

अवगुन मेरे ढक देना माँ, ममता आँचल कर देना माँ,
कठिन नहीं कुछ आपको माता, जग ठुकराया दया को पाता।
बिन पाऊ न गुन माँ तेरे, नाम धाम स्वरूप बहू तेरे,
जितने आपके पावन धाम, सब धामो को माँ प्राणम।

आपकी दया का है ना पार, तभी को पूजे कुल संसार,
निर्मल मन जो शरण मे आता, मुक्ति की वो युक्ति पाता।
संतोष धन्न से दामन भर दो, असम्भव को माँ सम्भव कर दो,
आपकी दया के भारे, सुखी बसे मेरा परिवार।

अपकी महिमा अती निराली, भक्तो के दुःख हरने वाली,
मनो कामना पुरन करती, मन की दुविधा पल मे हरती।
चालीसा जो भी पढे-सुनाया, सुयोग वर् वरदान मे पाए,
आशा पूर्ण कर देना माँ, सुमंगल साखी वर देना माँ।

गौरी माँ विनती करूँ, आना आपके द्वार,
ऐसी माँ कृपा किजिये, हो जाए उद्धहार।
हीं हीं हीं शरण मे, दो चरणों का ध्यान,
ऐसी माँ कृपा कीजिये, पाऊँ मान सम्मान।

 

यह भी पढ़ें – श्री विष्णु चालीसा | Shri Vishnu Chalisa

यह भी पढ़ें – श्री सूर्य चालीसा | Shri Surya Chalisa

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Shattila Ekadashi Kab Hai 2023: षटतिला एकादशी कब है? जानिए तिथि, शुभ मुहूर्त और महत्व

Shattila Ekadashi Kab Hai 2023: माघ मास के कृष्ण पक्ष की एकादशी को षटतिला एकादशी के नाम से जाना जाता है। इस दिन भगवान...

Magh Month 2023: माघ मास में स्नान के क्या हैं नियम? जानिए क्या करें और क्या न करें?

Magh Month 2023: माघ मास की शुरुआत हो चुकी है। माघ का महीना हिंदू धर्म में बहुत ही पवित्र माना जाता है। धार्मिक मान्यता...

Love Rashifal 9 January 2023: आपके प्यार और दांपत्य जीवन के लिए कैसा रहेगा आज का दिन

आज का लव राशिफल 9 जनवरी 2023 (Aaj Ka Love Rashifal 9 January 2023): मेष, वृषभ, मिथुन, कर्क, सिंह, कन्या, तुला, वृश्चिक, धनु, मकर,...

Lohri 2023 Date: 13 या 14 जनवरी, इस साल कब है लोहड़ी? जानिए सटीक तारीख और इससे जुड़ी खास बातें

Lohri Kab Hai 2023: मकर संक्रांति की तरह लोहड़ी भी उत्तर भारत का एक प्रमुख त्योहार है। यह विशेष रूप से पंजाब और हरियाणा...

Related Articles

Shattila Ekadashi Kab Hai 2023: षटतिला एकादशी कब है? जानिए तिथि, शुभ मुहूर्त और महत्व

Shattila Ekadashi Kab Hai 2023: माघ मास के कृष्ण पक्ष की एकादशी को षटतिला एकादशी के नाम से जाना जाता है। इस दिन भगवान...

Magh Month 2023: माघ मास में स्नान के क्या हैं नियम? जानिए क्या करें और क्या न करें?

Magh Month 2023: माघ मास की शुरुआत हो चुकी है। माघ का महीना हिंदू धर्म में बहुत ही पवित्र माना जाता है। धार्मिक मान्यता...

Love Rashifal 9 January 2023: आपके प्यार और दांपत्य जीवन के लिए कैसा रहेगा आज का दिन

आज का लव राशिफल 9 जनवरी 2023 (Aaj Ka Love Rashifal 9 January 2023): मेष, वृषभ, मिथुन, कर्क, सिंह, कन्या, तुला, वृश्चिक, धनु, मकर,...

Lohri 2023 Date: 13 या 14 जनवरी, इस साल कब है लोहड़ी? जानिए सटीक तारीख और इससे जुड़ी खास बातें

Lohri Kab Hai 2023: मकर संक्रांति की तरह लोहड़ी भी उत्तर भारत का एक प्रमुख त्योहार है। यह विशेष रूप से पंजाब और हरियाणा...

Love Rashifal 7 January 2023: आपके प्यार और दांपत्य जीवन के लिए कैसा रहेगा आज का दिन

आज का लव राशिफल 7 जनवरी 2023 (Aaj Ka Love Rashifal 7 January 2023): मेष, वृषभ, मिथुन, कर्क, सिंह, कन्या, तुला, वृश्चिक, धनु, मकर,...