माघ पूर्णिमा 2022: माघ पूर्णिमा पर बन रहा है खास संयोग, जानिए देवी लक्ष्मी को प्रसन्न करने का महत्व और उपाय

- Advertisement -

Magha Purnima 2022: माघी पूर्णिमा का विशेष महत्व है। माघी पूर्णिमा के दिन विशेष रूप से प्रयाग संगम में स्नान करना अत्यंत पुण्यदायी माना गया है। पौराणिक मान्यता है कि इस दिन देवलोक से देवता पृथ्वी पर आते हैं। इस दिन कुछ विशेष उपायों से भी मां लक्ष्मी को प्रसन्न किया जा सकता है।

Magha Purnima 2022: माघ मास के अंतिम दिन की तिथि को माघी पूर्णिमा कहा जाता है। धार्मिक दृष्टि से यह तिथि बहुत महत्वपूर्ण है। इस बार माघी पूर्णिमा 16 फरवरी 2022 बुधवार को पड़ रही है। इस दिन चंद्रदेव की पूजा के साथ-साथ भगवान विष्णु की पूजा भी महत्वपूर्ण है। माघी पूर्णिमा पर संयम रखने, सुबह स्नान करने और व्रत, दान आदि के नियमों का भी ग्रंथों में उल्लेख मिलता है। माघी पूर्णिमा के दिन विशेष रूप से प्रयाग संगम में स्नान करना अत्यंत पुण्यदायी माना गया है। पौराणिक मान्यता है कि इस दिन देवलोक से देवता पृथ्वी पर आते हैं। माघी पूर्णिमा का विशेष महत्व है। इस दिन कुछ विशेष उपायों से भी मां लक्ष्मी को प्रसन्न किया जा सकता है। आइए जानते हैं स्नान का महत्व, शुभ मुहूर्त और देवी लक्ष्मी को प्रसन्न करने के उपाय।

माघ पूर्णिमा का महत्व

माघ पूर्णिमा (Magha Purnima) का विशेष महत्व है। माघ पूर्णिमा उन साधकों के लिए बहुत विशेष मानी जाती है जो माघ मास में संगम नदी के किनारे रहकर व्रत और संयम के साथ स्नान ध्यान करते हैं। और माघ पूर्णिमा के दिन अपने कल्पवास की परंपरा को पूरा करते हैं। ऐसा माना जाता है कि माघी पूर्णिमा के पवित्र दिन श्री हरि विष्णु गंगा जल में निवास करते हैं। इसलिए इस दिन गंगा स्नान का विशेष फल प्राप्त होता है। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार माघ मास की पूर्णिमा को चंद्रमा मघा नक्षत्र और सिंह राशि में स्थित होता है। मघा नक्षत्र होने के कारण इस तिथि को माघ पूर्णिमा कहा जाता है। मान्यता के अनुसार माघी पूर्णिमा के दिन देवता भी गंगा स्नान के लिए प्रयाग आते हैं। इसलिए माघ मास की पूर्णिमा तिथि को गंगा स्नान करना बहुत शुभ माना जाता है।

स्नान का शुभ मुहूर्त

स्नान दान करने का शुभ मुहूर्त आरंभ: 16 फरवरी, बुधवार, सुबह 9:42 बजे
स्नान दान का शुभ मुहूर्त समाप्त: 16 फरवरी, बुधवार रात 10:55 मिनट तक
शुभ योग: माघ पूर्णिमा के दिन चंद्रमा और अश्लेषा नक्षत्र की कर्क राशि में युति होने से शोभन योग बन रहा है।

मां लक्ष्मी को प्रसन्न करने के उपाय

  • माघ पूर्णिमा के दिन मां लक्ष्मी को प्रसन्न करने के लिए करें कुछ उपाय-
  • घर में मां लक्ष्मी का स्वागत करने के लिए पूर्णिमा के दिन सुबह जल्दी स्नान करें और तुलसी को भोग, दीप और जल चढ़ाएं। ऐसा करने से देवी लक्ष्मी प्रसन्न होती हैं।
  • पूर्णिमा के दिन मां लक्ष्मी के मंत्रों का भी जाप करना चाहिए।
  • पूर्णिमा के दिन देवी लक्ष्मी की मूर्ति पर 11 कौड़ियां चढ़ाएं और उन पर हल्दी से तिलक करें। अगले दिन सभी कौड़ियों को लाल कपड़े में बांधकर तिजोरी में रख दें। ऐसा करने से आप पर हमेशा मां लक्ष्मी की कृपा बनी रहती है।
  • ऐसा माना जाता है कि माघ पूर्णिमा के दिन, देवी लक्ष्मी पीपल के पेड़ में आगमन करती हैं।
  • ऐसे में सुबह स्नान कर पीपल को जल चढ़ाएं और उसकी पूजा करें, इससे मां लक्ष्मी सभी कष्टों को दूर करती हैं।
  • माघ पूर्णिमा के दिन मां लक्ष्मी को खीर का भोग लगाएं और पूजा के बाद मंत्रों आदि का जाप करें।
- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Latest Update

Latest Update