Mahashivratri 2022: महाशिवरात्रि पर पंचग्रही योग, शुभ मुहूर्त में करें शिव की पूजा, मिलेगा भोलेनाथ का आशीर्वाद

Maha shivratri Kab Hai 2022: इस साल 1 मार्च को महाशिवरात्रि मनाई जाएगी। महाशिवरात्रि पर ग्रहों का विशेष योग बनने जा रहा है। दरअसल इस बार मकर राशि में पंचग्रही योग बन रहा है। इन पांच ग्रहों में शनि, मंगल, बुध, शुक्र और चंद्रमा एक साथ मकर राशि में रहेंगे।

Maha shivratri Kab Hai 2022: हिंदू कैलेंडर के अनुसार हर साल फाल्गुन मास के कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी तिथि को महाशिवरात्रि का पर्व मनाया जाता है। इस बार महाशिवरात्रि 01 मार्च को मनाई जाएगी। चतुर्दशी तिथि भगवान भोलेनाथ को बहुत प्रिय है, इसलिए हर महीने कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी को मासिक शिवरात्रि का व्रत रखा जाता है। महाशिवरात्रि पर्व को लेकर कई कथाएं प्रचलित हैं। पौराणिक कथाओं के अनुसार फाल्गुन कृष्ण पक्ष चतुर्दशी को भगवान शिव और माता पार्वती का विवाह हुआ था। यही कारण है कि महाशिवरात्रि को बहुत ही महत्वपूर्ण और पवित्र माना जाता है। शिव भक्तों के लिए महाशिवरात्रि का पर्व बेहद खास होता है। इसमें भक्त व्रत रखते हुए विशेष रूप से भगवान शिव की पूजा करते हैं। ज्योतिषियों के अनुसार इस बार महाशिवरात्रि पर दो शुभ योगों के साथ पंचग्रही योग भी बन रहा है। ऐसे में अगर आप महाशिवरात्रि के दिन शिव की पूजा करेंगे तो सभी भक्तों की मनोकामना अवश्य पूरी होगी। .

महाशिवरात्रि पर शुभ योग

महाशिवरात्रि पर इस बार धनिष्ठा नक्षत्र के साथ परिघ योग बनेगा। धनिष्ठा और परिघ योग के बाद शतभिषा नक्षत्र और शिव योग का संयोग होगा। ज्योतिष शास्त्र में परिघ योग में पूजा करने से शत्रुओं पर विजय प्राप्त होती है।

महाशिवरात्रि ग्रहों का योग

इस साल महाशिवरात्रि 01 मार्च को मनाई जाएगी। महाशिवरात्रि पर ग्रहों का विशेष योग बनने जा रहा है। दरअसल इस बार मकर राशि में पंचग्रही योग बन रहा है। इन पांच ग्रहों में शनि, मंगल, बुध, शुक्र और चंद्रमा एक साथ मकर राशि में रहेंगे। इसके अलावा लग्न में सूर्य और गुरु की युति कुम्भ राशि में भी रहेगी।

महाशिवरात्रि शुभ मुहूर्त

महाशिवरात्रि तिथि

चतुर्दशी तिथि प्रारंभ: 1 मार्च, मंगलवार, 03:16 AM
चतुर्दशी तिथि समाप्त: 2 मार्च, बुधवार, पूर्वाह्न 1:00 बजे

चारों प्रहरों का पूजा मुहूर्त

महाशिवरात्रि प्रथम पहर पूजा: 1 मार्च 2022 शाम 6:21 बजे से रात 9:27 बजे तक
महाशिवरात्रि दूसरा पहर पूजा: 1 मार्च को रात 9:27 बजे से 12:33 बजे तक
महाशिवरात्रि तीसरा पहर पूजा: 2 मार्च को दोपहर 12:33 बजे से 3:39 बजे तक
महाशिवरात्रि चौथा पहर पूजा: 2 मार्च 2022 दोपहर 3:39 बजे से शाम 6:45 बजे तक

महाशिवरात्रि पूजा विधि (महाशिवरात्रि 2022 पूजन विधि)

महाशिवरात्रि के दिन प्रात:काल स्नान करके लोटे में जल और दूध भरकर बेलपत्र, आक-धतूरा के फूलों के साथ पास के मंदिर में जाकर शिवलिंग पर चढ़ाएं। घर में मिट्टी का शिवलिंग बनाकर पूजा करनी चाहिए। इस दिन महाशिवरात्रि पर शिव पुराण का पाठ करें और महामृत्युंजय मंत्र या शिव के पंचाक्षर मंत्र ॐ नमः शिवाय का जाप करें। निशीथ काल में शिवरात्रि पूजन करना शुभ माना जाता है।

यह भी पढ़ें – Rang Panchami 2022: 2022 में कब है रंग पंचमी, तिथि, महत्व और पौराणिक कथा सहित बहुत कुछ

यह भी पढ़ें –    Holi 2022: वर्ष 2022 में कब है होली ? जानिए होलिका दहन का शुभ मुहूर्त, तिथि और पौराणिक कथा सहित बहुत कुछ

यह भी पढ़ें – 2022 में दीपावली कब है, जानिए तिथि, शुभ मुहूर्त, पूजा विधि, महत्व और पौराणिक कथा सहित बहुत कुछ

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Latest Update

Latest Update