Maha Shivratri Ke Upay: सुधारना है घर का वास्तु तो महाशिवरात्रि के दिन करें ये

Maha Shivratri Ke Upay: महाशिवरात्रि के दिन भगवान शिव की पूजा करने से घर के वास्तु दोष भी दूर हो सकते हैं। आइए जानते हैं भगवान शिव के कौन से उपाय घर के वास्तु दोषों को दूर कर सकते हैं।

Maha Shivratri Ke Upay: महा शिवरात्रि का पर्व फाल्गुन मास के कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी तिथि को मनाया जाता है। महाशिवरात्रि का हिंदू धर्म में विशेष महत्व माना जाता है। महाशिवरात्रि इस साल 1 मार्च मंगलवार को मनाई जाएगी। इस दिन भगवान शिव के साथ माता पार्वती की भी पूजा की जाती है। महाशिवरात्रि (MahaShivratri) भगवान शिव और माता पार्वती की शादी की रात है। मान्यता अनुसार कि महाशिवरात्रि के दिन रुद्राभिषेक करने से भक्त की हर मनोकामना पूर्ण होती है। भगवान भोलेनाथ को प्रसन्न करने के लिए महाशिवरात्रि के दिन भांग-धतूरा, दूध, चंदन, भस्म जैसी कई चीजें अर्पित की जाती हैं। महाशिवरात्रि के दिन भगवान शिव की पूजा करने से घर के वास्तु दोष भी दूर हो सकते हैं। आइए जानते हैं भगवान शिव के कौन से उपाय घर के वास्तु दोषों को दूर कर सकते हैं।

जलहरी के जल का घर में छिड़काव

महाशिवरात्रि के दिन घर में सुख-शांति के लिए शिवलिंग पर अभिषेक कर जलहरी का जल लेकर घर आएं। उसके बाद ‘ॐ नमः शिवाय करालं महाकाल कालं कृपालं ॐ नमः शिवाय’ मंत्र का जाप करते हुए उस जल को पूरे भवन में छिड़क दें। इससे घर में सकारात्मकता आएगी।

रुद्राभिषेक उत्तर-पूर्व दिशा में करें

यदि आपके घर में घरेलू परेशानी, रोग या अन्य परेशानियां हैं तो महाशिवरात्रि के दिन घर की उत्तर-पूर्व दिशा में रुद्राभिषेक करना शुभ माना जाता है।

बेल के पेड़ के नीचे घी का दीपक लगाएं

अगर आपके घर में वास्तु दोष है तो उससे छुटकारा पाने के लिए महाशिवरात्रि के दिन घर की पूर्व या उत्तर-पश्चिम दिशा में बिल्व का पेड़ लगाएं और जल दें। महाशिवरात्रि के दिन शाम को इसके नीचे घी का दीपक जलाने से वास्तु दोष कम होता हैं।

शिव परिवार को उत्तर पूर्व दिशा में लगाएं

यदि आप घर के कष्टों को दूर करना चाहते हैं तो महाशिवरात्रि के दिन शिव परिवार का चित्र उत्तर-पूर्व दिशा में लगाना शुभ होता है। घर के बच्चे भगवान शिव, माता पार्वती, पुत्र गणेश और कार्तिकेय की तस्वीर लगाने से आज्ञाकारी होते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *