Mahashivratri 2022: महाशिवरात्रि के दिन नहीं करना चाहिए ये काम, नहीं तो हो सकता है बड़ा नुकसान

Mahashivratri Puja 2022: इस बार महाशिवरात्रि (Mahashivratri) 1 मार्च 2022 को है। महाशिवरात्रि के दिन ही भगवान शिव व माता पार्वती का विवाह हुआ था। यह पर्व फाल्गुन मास (Falgun month) के कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी को मनाया जाता है। इस दिन लोग पूरी आस्था और भक्ति के साथ भगवान भोलेनाथ को प्रसन्न करने का प्रयास करते हैं। भगवान भोलेनाथ को पसंद आने वाली चीजें जैसे भांग, धतूरा, बेलपत्र और आक के फूल चढ़ाए जाते हैं। प्रत्येक वर्ष की तरह इस बार भी देश भर के सभी शिव मंदिरों में भक्तों की भारी भीड़ देखने को मिलेगी। शिव भक्त अपने आराध्य के दर्शन के लिए सुबह से ही कतारों में लग जाएंगे। ऐसे में शिवरात्रि का व्रत रखने वाले लोगों को आवश्यक नियमों का पालन करना चाहिए। इसके अलावा कुछ ऐसे भी काम हैं जो आपको महाशिवरात्रि के दिन नहीं करने चाहिए, इससे आपको नुकसान हो सकता है। तो आइए आज जानते हैं शिवरात्रि के दिन भक्तों को किन गलतियों से बचना चाहिए…

Mahashivratri Puja –

महाशिवरात्रि के दिन शिवलिंग पर चंपा और केतकी के फूल नहीं चढ़ाने चाहिए। इसके बजाय, आपको भगवान शिव के पसंदीदा फल – फूल धतूरे, बेलपत्र, भांग चढ़ाना चाहिए।

इसके अलावा कुछ लोग हल्दी से शिवलिंग का अभिषेक करते हैं। ऐसा करना सही नहीं माना जाता है। इसके बजाय आप शिव को चंदन का तिलक लगा सकते हैं। इसके अलावा शास्त्रों में कहा गया है कि शिवलिंग पर कभी भी तुलसी नहीं चढ़ानी चाहिए। साथ ही शिव को अर्पित किए जाने वाले पंचामृत में तुलसी का प्रयोग नहीं करना चाहिए।

अक्सर देखा जाता है कि बहुत से लोग शिवलिंग पर चढ़ाए गए प्रसाद को ग्रहण करते हैं, जबकि ऐसा नहीं करना चाहिए। कहा जाता है कि इससे आपके मुंह में दुर्भाग्य प्रवेश करता है। इसलिए शिवलिंग पर चढ़ाए गए प्रसाद को नहीं खाना चाहिए।

वहीं अगर आप व्रत करने जा रहे हैं तो शिवरात्रि के व्रत में चावल, दाल और गेहूं का सेवन नहीं करना चाहिए. फल खाने के अलावा आप दूध और चाय पी सकते हैं। साथ ही व्रत रखने वालों को इस दिन तेल की जगह देसी घी का प्रयोग करना चाहिए।

यह भी पढ़ें –  Ram Navami 2022: साल 2022 में कब है राम नवमी, जानिए तिथि, शुभ मुहूर्त, पूजा विधि, महत्व और बहुत कुछ

यह भी पढ़ें – Buddha Purnima 2022: 2022 में कब है बुद्ध पूर्णिमा, जाने कौन है गौतम बुद्ध, कैसे हुई बुद्धत्व की प्राप्ति

यह भी पढ़ें – Rang Panchami 2022: 2022 में कब है रंग पंचमी, तिथि, महत्व और पौराणिक कथा सहित बहुत कुछ

यह भी पढ़ें – Holi 2022: वर्ष 2022 में कब है होली ? जानिए होलिका दहन का शुभ मुहूर्त, तिथि और पौराणिक कथा सहित बहुत कुछ

यह भी पढ़ें – महाशिवरात्रि 2022: 2022 में कब है महाशिवरात्रि? जानें तिथि, शुभ मुहूर्त और पूजन विधि सहित बहुत कुछ

यह भी पढ़ें – 2022 में दीपावली कब है, जानिए तिथि, शुभ मुहूर्त, पूजा विधि, महत्व और पौराणिक कथा सहित बहुत कुछ

3 COMMENTS

  1. Thank you, I have just been searching for info approximately this topic for a long time and yours is the greatest I’ve discovered till now. But, what about the conclusion? Are you sure about the source?

  2. I was just looking for this info for some time. After six hours of continuous Googleing, at last I got it in your web site. I wonder what is the lack of Google strategy that do not rank this type of informative websites in top of the list. Generally the top websites are full of garbage.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Latest Update

Latest Update