Mahashivratri Upay: इस महाशिवरात्रि पर करें ये उपाय, लक्ष्मी दौड़ी आएंगी आपके घर

Mahashivratri Upay: महाशिवरात्रि के दिन दही के साथ भगवान भोलेनाथ का रुद्राभिषेक करने से धन की वृद्धि होती है। गन्ने के रस से भगवान शिव का अभिषेक करने से लक्ष्मी की प्राप्ति होती है।

Mahashivratri Upay: फाल्गुन मास के कृष्ण पक्ष की त्रयोदशी-चतुर्दशी तिथि को शिवरात्रि की तिथि कहा जाता है। भगवान भोलेनाथ का यह दिन भक्तों को विशेष रूप से आध्यात्मिक लाभ देने वाला है। इस दिन, भक्त विशेष पूजा करके भगवान शिव की पूजा करते हैं। मान्यता है कि भगवान शिव की शिवरात्रि के दिन पूजा करने से शिव की भक्ति की शक्ति से सभी मनोकामनाएं पूरी होती हैं। यदि आपके जीवन में कोई परेशानी आ रही है तो इस महाशिवरात्रि (Mahashivratri )पर आप कुछ ज्योतिषीय उपायों को अपनाकर इन बाधाओं से छुटकारा पा सकते हैं।

ज्योतिषीय उपाय

इस दिन दही के साथ भगवान शिव का रुद्राभिषेक करने से धन की वृद्धि होती है। गन्ने के रस से भगवान शिव का अभिषेक करने से लक्ष्मी की प्राप्ति होती है। महाशिवरात्रि पर शिवलिंग का शहद और घी से अभिषेक करना भी धन प्राप्ति के लिए अच्छा माना जाता है। रुका हुआ धन अगर आप पाना चाहते हैं तो महाशिवरात्रि के दिन भगवान शिव के वाहन नंदी यानी बैल को हरा चारा खिलाएं।

शहद मिलाकर जल से अभिषेक करें

108 बार महामृत्युंजय मंत्र का जाप महाशिवरात्रि के दिन शाम को करें। यदि कुंडली में ग्रहों की स्थिति कमजोर हो तो महाशिवरात्रि के दिन शिवलिंग पर दूध का अभिषेक करें और ॐ नम: शिवाय मंत्र का जाप करें। नौकरी या व्यापार में परेशानी हो तो महाशिवरात्रि के दिन व्रत रखें और जल में शहद मिलाकर शिवलिंग पर अभिषेक करें। अनार का फूल भी चढ़ाएं।

इस मंत्र का जाप करें

महाशिवरात्रि पर जरूरतमंदों की मदद करने से जीवन में सभी तरह की परेशानियां खत्म हो जाएंगी। अगर आप अपनी कोई मनोकामना पूरी करना चाहते हैं तो महाशिवरात्रि के दिन भगवान शिव को उनकी मनपसंद चीज जरूर चढ़ाएं। महाशिवरात्रि के दिन चांदी के लोटे द्वारा जलधारा से भगवान शिव का अभिषेक करते समय ॐ नम: शिवाय और ॐ पार्वतीपतये नमः मंत्र का 108 बार जाप करने से आर्थिक उन्नति होती है।

यह भी पढ़ें – Buddha Purnima 2022: 2022 में कब है बुद्ध पूर्णिमा, जाने कौन है गौतम बुद्ध, कैसे हुई बुद्धत्व की प्राप्ति

यह भी पढ़ें – Rang Panchami 2022: 2022 में कब है रंग पंचमी, तिथि, महत्व और पौराणिक कथा सहित बहुत कुछ

यह भी पढ़ें – Holi 2022: वर्ष 2022 में कब है होली ? जानिए होलिका दहन का शुभ मुहूर्त, तिथि और पौराणिक कथा सहित बहुत कुछ

यह भी पढ़ें – महाशिवरात्रि 2022: 2022 में कब है महाशिवरात्रि? जानें तिथि, शुभ मुहूर्त और पूजन विधि सहित बहुत कुछ

यह भी पढ़ें – 2022 में दीपावली कब है, जानिए तिथि, शुभ मुहूर्त, पूजा विधि, महत्व और पौराणिक कथा सहित बहुत कुछ

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Latest Update

Latest Update