सफलता चाहिए तो महात्मा बुद्ध के इन वचनों का करें पालन

Mahatma Buddha Vichar: शाही परिवार में जन्में महात्मा बुद्ध का जन्म 563 ईसा पूर्व नेपाल के लुंबिनी में हुआ था। अपने जीवन के एक पड़ाव पर उन्होंने बीमारी, बुढ़ापा और मृत्यु जैसे मानव जीवन के दुखों को देखा। इसके बाद 29 वर्ष की आयु में वे सांसारिक जीवन छोड़कर सत्य की खोज में निकल पड़े। उन्होंने बोधगया में एक पीपल के पेड़ के नीचे ध्यान करते हुए आत्म-साक्षात्कार प्राप्त किया। तब से लेकर 80 वर्ष की अवस्था में अपनी मृत्यु तक, उन्होंने अपना पूरा जीवन यात्रा करने और लोगों को जीवन के चक्र से छुटकारा पाने का रास्ता दिखाने में लगा दिया। उनकी मृत्यु के बाद उनके शिष्यों ने राजगृह में एक परिषद बुलाई, जहां बौद्ध धर्म की मुख्य शिक्षाओं को संहिताबद्ध किया गया। महात्मा बुद्ध के सिद्धांतों के आधार पर बौद्ध धर्म दो संप्रदायों हीनयान और महायान में विभाजित हो गया। बुद्ध के सिद्धांतों पर आधारित बौद्ध धर्म के प्रसार का कार्य बुद्ध के अनुयायियों द्वारा किया गया था व.र्तमान समय में महात्मा बुद्ध के संदेशों और विचारों को प्रासंगिक माना जाता है। आइए जानते हैं महात्मा बुद्ध के कौन से विचार हैं जो मनुष्य को सफल बनाते हैं।

Mahatma Buddha Vichar –

भगवान बुद्ध के अनुसार, संतोष सबसे बड़ा धन है। वफादारी सबसे बड़ा संबंध है जबकि स्वास्थ्य सबसे बड़ा उपहार है। जीवन में किसी भी उद्देश्य या लक्ष्य तक पहुंचने से ज्यादा जरूरी है उस यात्रा को अच्छे से संपन्न करना।

महात्मा बुद्ध के अनुसार, हमेशा क्रोधित रहना एक जलते हुए कोयले को दूसरे व्यक्ति पर फेंकने की इच्छा से अपने पास रखने के समान है। यह गुस्सा आपको पहले जलाता है। इसलिए होकर हजारों गलत शब्द बोलने से बेहतर, मौन का वह एक शब्द है जो जीवन में शांति ले आता है।

महात्मा बुद्ध के अनुसार जंगली जानवर की बजाय कपटी और दुष्ट मित्र से डरना चाहिए। एक जंगली जानवर आपके शरीर को नुकसान पहुंचा सकता है, जबकि एक बुरा दोस्त आपकी बुद्धि को नुकसान पहुंचा सकता है।

महात्मा बुद्ध के अनुसार मनुष्य को न तो अपने अतीत पर ध्यान देना चाहिए और न ही भविष्य के बारे में सोचना चाहिए। वर्तमान में जीने की आदत डालनी चाहिए तभी जीवन में शांति होगी।

जीवन में हजार लड़ाइयाँ जीतने से बेहतर है कि आप खुद को जीत लें। अगर आप ऐसा करते हैं तो जीत हमेशा आपकी ही रहेगी, इसे आपसे कोई नहीं छीन सकता।

बुराई को बुराई से नहीं मिटाया जा सकता। नफरत को प्यार से ही खत्म किया जा सकता है, यह एक अटूट सत्य है।

यह भी पढ़ें – खुद चली आयेगी माँ लक्ष्मी, अगर करेंगे ये उपाय और वापस मिल जायेगा दिया हुआ धन

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Latest Update

Latest Update