Global Statistics

All countries
240,188,856
Confirmed
Updated on October 14, 2021 23:59
All countries
215,765,598
Recovered
Updated on October 14, 2021 23:59
All countries
4,893,161
Deaths
Updated on October 14, 2021 23:59

Global Statistics

All countries
240,188,856
Confirmed
Updated on October 14, 2021 23:59
All countries
215,765,598
Recovered
Updated on October 14, 2021 23:59
All countries
4,893,161
Deaths
Updated on October 14, 2021 23:59

बदलते मौसम में रहें सावधान: अटैक कर सकता है मलेरिया, इन घरेलू नुस्खों से करें खुद को सुरक्षित

Malaria ke Gharelu upay: इन दिनों ज्यादातर जगहों का मौसम बदल चुका है। और इन जगहों पर तेज बारिश हो रही है। ऐसे में जहां एक तरफ लोगों को गर्मी से राहत मिली है। वहीं दूसरी तरफ जगह-जगह जलजमाव की समस्या से लोग परेशान हैं। लेकिन इसके अलावा एक और समस्या जो बरसात के मौसम के साथ आती है वह है बीमारियों का जन्म। दरअसल बदलते मौसम के साथ कई बीमारियां भी लोगों को अपनी चपेट में लेने लगती हैं। उदाहरण के लिए, मलेरिया। बरसात के मौसम में कई लोगों को मलेरिया की बीमारी हो जाती है। इसलिए हम आपको कुछ ऐसे घरेलू उपायों के बारे में बताने जा रहे हैं। जो आपकी मदद कर सकते हैं। तो आइए जानते हैं इनके बारे में। मलेरिया (Malaria ke Gharelu upay) की बीमारी से बचने के घरेलू उपायों –

दालचीनी और शहद

आपको एक गिलास पानी में दालचीनी, थोड़ा सा शहद और काली मिर्च पाउडर मिलाना है। इसके बाद इस पानी को उबाल लें और ठंडा होने के बाद इसका सेवन करें। बदलते मौसम में मलेरिया से बचाव के लिए यह घरेलू उपाय काफी फायदेमंद माना जाता है।

अदरक

अदरक हमारे इम्युनिटी सिस्टम को मजबूत करने में काफी मददगार होता है। इसमें सक्रिय संघटक जिंजरोल होता है। जिसमें एंटी-इंफ्लेमेटरी और एंटी-बैक्टीरियल गुण होते हैं। और इसी वजह से यह बदलते मौसम जैसे मलेरिया के दौरान होने वाली अन्य बीमारियों में भी बहुत फायदेमंद होता है। आप अदरक की चाय का सेवन तो कर ही सकते हैं। साथ ही आप अदरक को गैस पर हल्का गर्म करके भी चबा सकते हैं।

तुलसी के पत्ते और काली मिर्च

आपको कुछ तुलसी के पत्ते, काली मिर्च का पाउडर और शहद लेना है। इन तीनों को मिलाकर आपको इसका सेवन सुबह-शाम करना है। ऐसा करने से बुखार कम करने में मदद मिलती है।

गिलोय

गिलोय का सेवन मलेरिया और डेंगू जैसी बीमारियों में काफी मदद करता है। आपको बस इतना करना है कि रोजाना 3-4 बार गिलोय के काढ़े का सेवन करना है। गिलोय का काढ़ा बाजार में आसानी से मिल जाता है। या फिर आप इसकी जगह गिलोय की गोली का सेवन भी कर सकते हैं।

अस्वीकरण: भाग्यमत के स्वास्थ्य और फिटनेस श्रेणी में प्रकाशित सभी लेख डॉक्टरों, विशेषज्ञों और शैक्षणिक संस्थानों आधार पर तैयार किए गए हैं। लेख में उल्लिखित तथ्यों और सूचनाओं को भाग्यमत के पेशेवर पत्रकारों द्वारा सत्यापित किया गया है। इस लेख को तैयार करते समय सभी निर्देशों का पालन किया गया है। पाठक की जानकारी और जागरूकता बढ़ाने के लिए संबंधित लेख तैयार किया गया है। भाग्यमत लेख में दी गई जानकारी और जानकारी के लिए दावा या जिम्मेदारी नहीं लेता है। उपरोक्त लेख में वर्णित संबंधित बीमारी के बारे में अधिक जानकारी प्राप्त करने के लिए अपने चिकित्सक (डॉक्टर) से परामर्श जरूर करें।

BHAGYMT ON OTHER PLATFORM

Join Our Telegram Channel – https://t.me/bhagymat

Follow On Koo – https://www.kooapp.com/profile/bhagymat

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

RECENT UPDATED