Global Statistics

All countries
594,375,416
Confirmed
Updated on August 13, 2022 3:25 pm
All countries
564,636,446
Recovered
Updated on August 13, 2022 3:25 pm
All countries
6,452,552
Deaths
Updated on August 13, 2022 3:25 pm

Global Statistics

All countries
594,375,416
Confirmed
Updated on August 13, 2022 3:25 pm
All countries
564,636,446
Recovered
Updated on August 13, 2022 3:25 pm
All countries
6,452,552
Deaths
Updated on August 13, 2022 3:25 pm

प्रधानमंत्री महिला लोन योजना | Mahila Loan Scheme

- Advertisement -
- Advertisement -

Pradhan Mantri Mahila Loan Yojana | प्रधानमंत्री महिला लोन योजना: भारत देश के भीतर सरकार महिलाओं को आगे बढ़ाने के लिए कई योजनाएं चला रही है। ऐसे में सरकार महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने के लिए महिलाओं को रोजगार देना चाहती है ताकि सभी महिलाएं अपना काम खुद कर सकें और किसी और पर निर्भर न रहें। आप चाहे कुछ भी काम करों बिना रूपयों के कुछ भी काम नहीं होता हैं। काम तो हर कोई करना चाहता है, लेकिन बात पैसों को लेकर रुक जाती है चाहे आप पुरुष हों या महिला। पिछले कुछ समय से हमारे देश में स्टार्टअप इंडिया की धूम मची हुई है और सरकार नए उद्यमों के क्षेत्र में महिलाओं को भागीदार बनाना चाहती है। ग्रामीण हो या शहरी हर जगह महिलाएं अपनी पहचान बना रही हैं। इसके लिए सरकार ने महिलाओं के लिए विभिन्न प्रकार की महिला लोन योजना (Mahila Loan Yojana) चलाई है।

आप द बेटर इंडिया पर उद्योग क्षेत्रों की महिलाओं के कई किस्से भी सुन सकते हैं। आप इतिहास को भी उठाकर देख सकते हैं कि महिलाओं ने देश के लिए बहुत कुछ किया है। इसलिए सरकार अब हर क्षेत्र में महिलाओं को आगे लाना चाहती है, चाहे ट्रेन चलाना हो या हवाई जहाज। तो ऐसे में अगर महिलाएं प्राइवेट काम करती हैं तो सरकार उनके साथ है ताकि महिलाओ का काम न रुके –

Pradhan Mantri Mahila Loan Yojana | प्रधानमंत्री महिला लोन योजना

  • महिला लोन की 8 बड़ी योजनाएं
  • किन कार्यों में मदद मिलेगी
  • सर्विस टैक्स
  • महिला ऋण योजना की विशेषताएं
  • महिलाओं के लिए आकर्षक होम लोन योजनाएं

Pradhan Mantri Mahila Loan Yojana | प्रधानमंत्री महिला लोन योजना

महिला लोन की 8 बड़ी योजनाएं

  • अन्नपूर्णा स्कीम
  • महिला उद्यमियों के लिए स्त्री शक्ति पैकेज
  • सेंट कल्याणी स्कीम
  • मुद्रा योजना स्कीम
  • महिला उद्यम निधि स्कीम
  • देना शक्ति स्कीम
  • ओरएंट महिला विकास योजना स्कीम
  • भारतीय महिला बैंक बिज़नेस लोन

अन्नपूर्णा योजना | Annapurna Scheme | Annapurna Yojana

इस योजना के तहत, भारत सरकार खाद्य खानपान का व्यवसाय करने वाली महिला उद्यमियों को 50,000 रुपये तक का ऋण देती है। इस पैसे से आप नए काम के हिसाब से बर्तन, कटलरी, गैस कनेक्शन, फ्रिज, मिक्सर कम ग्राइंडर, बर्तन स्टैंड, टिफिन बॉक्स, टेबल, पानी फिल्टर आदि खरीद सकते हैं। इन सभी चीजों से आप खाना बनाना शुरू कर सकती हैं।

  • आपको ऋण के लिए एक गारंटर की आवश्यकता है।
  • साथ ही आपके पास जो भी व्यवसाय की संपत्ति है, उसे आपको बैंक के पास गारंटी के रूप में रखना होगा।
  • लोन का पैसा मिलने के बाद आपको इसे 36 किस्तों में यानी 3 साल के अंदर यानी 36 महीने में चुकाना होगा।
  • ऋण पर ब्याज की दर बाजार दर और आपके बैंक पर निर्भर करती है।
  • आप स्टेट बैंक ऑफ मैसूर और भारतीय महिला बैंक में आवेदन कर सकती हैं।

स्त्री शक्ति पैकेज

भारतीय स्टेट बैंक की एक विशेष योजना है जिसमें महिलाएं अपना व्यवसाय करने के लिए कम ब्याज पर पैसे लेती हैं। इस योजना के लिए आपको लघु उद्योग ऋण मिलता है, जिसमें एक महिला की हिस्सेदारी 50% से अधिक होती है।

  • दूसरे, इन उद्यमियों को भी अपने राज्य की एजेंसी द्वारा उद्यमिता विकास कार्यक्रम के लिए नामांकित किया जाना आवश्यक है।
  • इस योजना के माध्यम से आप 2 लाख रुपये तक के ऋण में 0.05 प्रतिशत की ब्याज छूट प्राप्त कर सकते हैं।
  • 5 लाख रुपये तक के छोटे उधोगों के ऋणों के लिए किसी गारंटी की आवश्यकता नहीं है।

सेंट कल्याणी योजना

यह योजना सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया की है। इस योजना के लिए आप नया और पुराना दोनों तरह का व्यवसाय कर सकते हैं। इस योजना में कृषि, हस्तशिल्प, खाद्य प्रसंस्करण, वस्त्र निर्माण व्यवसाय, ब्यूटी पार्लर खोलना, पुस्तकालय, फोटोकॉपी मशीन, सिलाई आदि का रोजगार करने वाली महिलाएं आवेदन कर सकती हैं।

  • इस योजना के तहत महिलाओं को 1 करोड़ रुपये तक का लोन दिया जाता है।
  • इस लोन के लिए आपको किसी तरह की सुरक्षा या किसी गारंटी की जरूरत नहीं है।
  • बस आपका बिजनेस चेक किया जाता है।
  • ऋण पर ब्याज बाजार दर के अनुसार वसूला जाएगा।
  • ऋण चुकौती का समय लगभग 7 वर्ष है।

मुद्रा योजना

एक तरह से यह योजना छोटे कारोबारियों के लिए है। मुद्रा योजना प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा चलाई गई है। मुद्रा योजना के तहत आप देश के किसी भी बैंक से लोन ले सकते हैं। इस योजना के लिए आप अपना खुद का ब्यूटी पार्लर, ट्यूशन सेंटर या सिलाई का काम शुरू करने के लिए पैसे ले सकते हैं।

  • इस योजना के तहत आपको 50,000 रुपये से लेकर लाख रुपये तक का कर्ज मिल सकता है।
  • 10 लाख रुपये तक के लोन के लिए आपको किसी गारंटर की जरूरत नहीं है।

इस योजना के तीन प्लान –

शिशु लोन
किशोर लोन
तरुण लोन

महिला उद्यम निधि योजना

इस योजना का लाभ लेने के लिए आप पंजाब नेशनल बैंक और बैंक ऑफ इंडिया से संपर्क कर सकते हैं। यह योजना उन महिलाओं के लिए है जो अपना छोटा व्यवसाय शुरू करना चाहती हैं।

  • इस योजना के तहत आप एक लाख रुपये तक का ऋण प्राप्त कर सकती हैं।
  • ऋण चुकौती समय 10 वर्ष
  • ब्याज दर बाजार दर के आधार पर तय की जाएगी।

देना शक्ति योजना

इस योजना का लाभ आपको देना बैंक द्वारा दिया जाता है जैसा कि आप नाम से ही जानते हैं। आपको थोक दुकान या छोटे पैमाने के व्यवसाय के लिए ऋण दिया जाता है।

  • इस योजना में आपको 20 लाख रुपये तक का ऋण मिल सकता है।
  • आप ब्याज दर पर 0.25% की छूट भी प्राप्त कर सकते हैं।
  • इस योजना में आप 50000 रुपये तक के ऋण के लिए आवेदन कर सकते हैं।

ओरिएंट महिला विकास योजना

यह योजना ओरिएंटल बैंक द्वारा चलाई जा रही है। इस योजना के तहत उन महिलाओं को शामिल किया गया है जो 51 फीसदी शेयर की मालकिन हैं।

  • आपको 10 लाख रुपये से लेकर 25 लाख रुपये तक का कर्ज मिल सकता है।
  • ऋण चुकौती का समय 7 वर्ष तक हो सकता है।

भारतीय महिला बैंक बिजनेस लोन

इस योजना की शुरुआत इंडियन बैंक ने की है, लेकिन बाद में यानी 2017 में इस योजना का एसबीआई में विलय हो गया। इस योजना के तहत सार्वजनिक बैंकिंग कंपनियां महिला उद्यमियों को अपना व्यवसाय शुरू करने के लिए ऋण देती हैं।

  • इस योजना में भी आपको ब्याज दरों में छूट दी जाती है।
  • ऋण चुकौती का समय 7 वर्ष तक हो सकता है।
  • इस योजना में विभिन्न योजनाएं शामिल हैं।
  • इस योजना में आप 20 करोड़ तक का कर्ज ले सकते हैं।

इस तरह महिलाएं खुद का बिजनेस शुरू करने के लिए जरूरत के मुताबिक कर्ज ले सकती हैं। अधिक जानकारी के लिए आपको संबंधित विभाग में जाना होगा। हमने अभी आपको जानकारी दी है कि स्वरोजगार के लिए लोन कैसे लें। अंतिम निर्णय संबंधित विभाग का ही होगा।

किन कार्यों में मदद मिलेगी

ऋण योजना के तहत महिलाएं कई काम कर सकती हैं। इनमें ब्यूटी पार्लर, सैलून, टेलरिंग, कृषि उपकरण सेवा, कैंटीन और रेस्तरां, नर्सरी, लॉन्ड्री और ड्राई क्लीनिंग, डे केयर सेंटर, कम्प्यूटरीकृत डेस्क टॉप पब्लिशिंग, केबल टीवी नेटवर्क, फोटोकॉपी सेंटर, सड़क परिवहन ऑपरेटर, प्रशिक्षण संस्थान, वाशिंग मशीन और शामिल हैं। मुरब्बा बनाने के अलावा अन्य इलेक्ट्रॉनिक और इलेक्ट्रिकल गैजेट्स रिपेयरिंग, जैम और जेली जैसे कई तरह के छोटे उद्योग शुरू किए जा सकते हैं।

सर्विस टैक्स

इस योजना का लाभ लेने के लिए एक छोटा व्यवसाय, बहुत छोटा व्यवसाय शुरू करने के लिए आवेदक महिला का किसी अन्य उद्योग से जुड़ा होना भी आवश्यक है, अर्थात ऋण लेने वाली महिला पहले से ही कोई काम/उद्योग कर रही हो। इसके अलावा महिला जो भी काम कर रही है उस महिला के पास भी कम से कम 51 फीसदी का मालिकाना हक होना चाहिए। जब लोन पास हो जाता है तो महिला ने जिस बैंक से कर्ज लिया है उसके हिसाब से हर साल करीब 1 फीसदी सर्विस टैक्स भी लगता है।

महिला ऋण योजना की विशेषताएं

सिडबी द्वारा छोटे और मध्यम आकार के व्यवसायों को नया काम/व्यवसाय शुरू करने और अपने पुराने काम को बढ़ाने के लिए बिजनेस लोन दिया जाता है। इसलिए सिडबी द्वारा महिला उद्यम निधि योजना चलाई गई है। इस योजना के तहत महिलाओं को उद्यम को बढ़ावा देने और महिलाओं को कम ब्याज दर पर अपना खुद का व्यवसाय शुरू करने में मदद की जाती है। इस योजना के तहत प्राप्त राशि से आप निर्माण और उत्पादन शुरू कर सकते हैं।

इस योजना के तहत जो महिलाएं व्यवसाय करना चाहती हैं उन्हें कम ब्याज दरों पर ऋण दिया जाता है। इसमें महिलाएं दस लाख रुपये तक का कर्ज ले सकती हैं और इस कर्ज को चुकाने के लिए 10 साल का समय मिल सकता है। जिसमें पांच साल की मोहलत अवधि भी होती है।

इस योजना की खास बात यह है कि इसके लिए किसी गारंटर या सुरक्षा की जरूरत नहीं है। सिडबी ने इस योजना की शुरुआत पीएनबी बैंक से की थी लेकिन अब समय के साथ और भी कई बैंक इस योजना से जुड़ गए हैं।

महिलाओं के लिए आकर्षक होम लोन योजनाएं

प्रधानमंत्री आवास योजना

प्रधानमंत्री आवास योजना शहरी गरीबों को सस्ते घर उपलब्ध कराने के लिए भारत सरकार द्वारा की गई एक पहल है। इसका लक्ष्य लोगों को सस्ते घर उपलब्ध कराना है। इस योजना के तहत विधवाओं, एकल कामकाजी महिलाओं, एससी-एसटी, दिव्यांग और ट्रांसजेंडर लोगों को वरीयता दी जाती है। इस योजना का लाभ उठाने के लिए पात्रता मानदंड इस प्रकार हैं –

• लाभार्थी की अधिकतम आयु 70 वर्ष तक हो सकती है।
• ईडब्ल्यूएस (आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग) की वार्षिक आय 3 लाख रुपये से कम होनी चाहिए।
• एलआईजी (निम्न आय वर्ग) की वार्षिक आय रु.3 लाख से रु.6 लाख।
• एमआईजी (मध्य आय समूह) की वार्षिक आय 6 लाख रुपये से 18 लाख रुपये।
• लाभार्थी या उसके परिवार के किसी सदस्य की भारत के किसी भी हिस्से में कोई संपत्ति नहीं होनी चाहिए।

एचडीएफसी बैंक की महिला शक्ति योजना | एचडीएफसी बैंक की वूमन पॉवर स्कीम

महिलाओं को अपने नाम पर घर खरीदने के लिए प्रोत्साहित करने के लिए, एचडीएफसी बैंक ने साल वुमन पावर नामक एक विशेष योजना शुरू की। इस योजना के तहत एचडीएफसी बैंक महिलाओं को 9.85 प्रतिशत की दर से होम लोन प्रदान करता है। अन्य बैंकों की तरह, HDFC बैंक भी यह ऑफर उन महिलाओं को देता है जो संपत्ति की एकमात्र मालिक या सह-मालिक हो सकती हैं। यह योजना उन महिलाओं के लिए भी है जिनके पास आय का कोई साधन नहीं है।

(Pradhan Mantri Mahila Loan Yojana | प्रधानमंत्री महिला लोन योजना)

Leave a Reply

spot_imgspot_img
spot_img

Latest Articles