रंग पंचमी 2022: इस दिन मनाया जाएगा रंग पंचमी का पर्व, जानिए क्या है इसका धार्मिक महत्व?

Rang Panchami Kab Hai 2022: होली हिंदू धर्म के प्रमुख त्योहारों में से एक है। बसंत पंचमी के बाद से ही होली के त्योहार का इंतजार शुरू हो जाता है। हर वर्ष धुलेंडी मतलब रंगों वाली होली से 1 दिन पहले होलिका दहन मनाया जाता है। फिर होली के दिन रंगों और गुलाल से होली खेली जाती है। इस साल यानि साल 2022 में 17 मार्च को होलिका दहन होगा और उसके बाद 18 मार्च को होली मनाई जाएगी। रंगपंचमी का त्योहार होली के पांचवें दिन यानी चैत्र कृष्ण पंचमी को मनाया जाता है। रंगपंचमी का त्योहार देवताओं को समर्पित माना जाता है। रंग पंचमी (Rang Panchami) पूरे देश में धूमधाम से मनाई जाती है। चैत्र मास के कृष्ण पक्ष की पंचमी होने के कारण इसे कृष्ण पंचमी के नाम से भी जाना जाता है। तो आइए जानते हैं रंगपंचमी का त्योहार कैसे मनाया जाता है और इसका क्या महत्व है।

रंगपंचमी कैसे मनाई जाती है?

होली का त्योहार चैत्र कृष्ण पक्ष की प्रतिपदा से शुरू होकर कृष्ण पक्ष की पंचमी तक मनाया जाता है। वहीं पंचमी के दिन पड़ने के कारण इसे रंगपंचमी कहते हैं। पौराणिक मान्यता है कि इस दिन भगवान कृष्ण ने राधा के साथ होली खेली थी। रंगपंचमी पर भगवान कृष्ण के साथ राधा रानी की भी पूजा की जाती है। साथ ही इस दिन श्री कृष्ण और राधा रानी को रंग भी चढ़ाया जाता है। कई राज्यों में रंगपंचमी के दिन जुलूस निकाले जाते हैं। जिसमें हुरियारे अबीर गुलाल उड़ाते हैं।

रंग पंचमी का महत्व

ऐसा माना जाता है कि इस दिन वातावरण में गुलाल उड़ाने से व्यक्ति के सात्विक गुणों में वृद्धि होती है और तामसिक और राजसिक गुणों का नाश होता है। इसलिए इस दिन शरीर पर रंग न लगाकर बिना ही रंग वातावरण में बिखर जाता है। रंगपंचमी का पर्व प्राचीन काल से मनाया जाता है। शास्त्रों के अनुसार इस पर्व को बुरी शक्तियों से विजय का दिन भी कहा जाता है।

इन राज्यों में धूमधाम से मनाते है रंगपंचमी

रंगपंचमी महाराष्ट्र, राजस्थान, गुजरात और मध्य प्रदेश में धूमधाम से मनाई जाती है। महाराष्ट्र में यह त्योहार सबसे ज्यादा मनाया जाता है। यहां लोग एक दूसरे पर गुलाल उड़ाते हैं। घरों में तरह-तरह के व्यंजन बनाए जाते हैं और दोस्तों और रिश्तेदारों को आमंत्रित किया जाता है। लोग नृत्य, संगीत का आनंद उठाकर रंगपंचमी मनाते हैं।

वर्ष 2022 में रंग पंचमी कब है?

रंग पंचमी का यह पर्व चैत्र मास के कृष्ण पक्ष की पंचमी तिथि को मनाया जाता है। इस वर्ष यह पर्व 22 मार्च 2022 को मनाया जाएगा।

यह भी पढ़ें – आमलकी एकादशी 2022: कब है आमलकी एकादशी? जानें तिथि, मुहूर्त व महत्व

यह भी पढ़ें – होली 2022: 18 मार्च को होली, जानिए होलाष्टक की पौराणिक मान्यता और होलिका से जुड़ी प्रचलित कथा

3 COMMENTS

  1. Please let me know if you’re looking for a article writer for your blog. You have some really great articles and I believe I would be a good asset. If you ever want to take some of the load off, I’d absolutely love to write some material for your blog in exchange for a link back to mine. Please blast me an email if interested. Regards!

  2. What’s Happening i am new to this, I stumbled upon this I’ve discovered It absolutely useful and it has helped me out loads. I am hoping to contribute & aid other customers like its helped me. Great job.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Latest Update

Latest Update