Global Statistics

All countries
332,278,790
Confirmed
Updated on January 18, 2022 5:17 pm
All countries
267,362,972
Recovered
Updated on January 18, 2022 5:17 pm
All countries
5,566,713
Deaths
Updated on January 18, 2022 5:17 pm

संकष्टी चतुर्थी दिसंबर 2021: साल की आखिरी संकष्टी चतुर्थी इस दिन, जाने मुहूर्त और पूजा विधि

Sankashti Chaturthi December 2021: दो चतुर्थी व्रत प्रत्येक माह में होते हैं। संकष्टी चतुर्थी को संकटहारा चतुर्थी (Sankathara Chaturthi) के नाम से भी जाना जाता है। गणेश को समर्पित हिंदू कैलेंडर के प्रत्येक चंद्र महीने में एक दिन होता है। यह दिन कृष्ण पक्ष की चतुर्थी को पड़ता है। साल 2021 की आखिरी संकष्टी चतुर्थी 22 दिसंबर को मनाई जाएगी। संकष्टी चतुर्थी के दिन व्रत रखकर गणेश जी की पूजा की जाती है। श्री गणेश सभी कष्टों को दूर करते हैं। बुधवार के दिन चतुर्थी बहुत शुभ होती है। क्योंकि बुधवार का दिन गणपति का होता है। इस दिन श्रद्धालु कठोर व्रत रखते हैं। वे रात में चंद्रमा के शुभ दर्शन के बाद गणेश की पूजा करने से पहले उपवास तोड़ते हैं। ऐसा माना जाता है कि इस व्रत को करने से परेशानिया कम होती हैं। क्योंकि गजानन्द सभी बाधाओं को दूर करने वाले और बुद्धि के सर्वोच्च स्वामी हैं। आइए जानते हैं संकष्टी चतुर्थी (Sankashti Chaturthi) का पूजन मुहूर्त और इसे करने की विधि

पूजा मुहूर्त

दिनांक: 22 दिसंबर, 2021, दिन बुधवार
पूजन मुहूर्त (Pujan Muhurta): रात्रि 08:15 से रात 09:15 बजे तक (अमृत काल)
चंद्र दर्शन मुहूर्त: रात 08:30 बजे से रात 09:30 बजे तक

संकष्टी चतुर्थी की पूजा विधि

सर्वप्रथम ब्रह्ममुहूर्त में नहा धोकर स्वच्छ वस्त्र धारण करें।
पूजा हेतु ईशान कोण में चौकी पर भगवान गजानंद की मूर्ति स्थापित करें।
सर्वप्रथम चौकी पर लाल या पीले रंग का कपड़ा बिछाएं।
भगवान के समक्ष हाथ जोड़कर पूजा और व्रत का संकल्प करे।
गजानंद जी को जल, अक्षत, दूर्वा घास, लड्डू, पान, धूप आदि अर्पण करें।
भगवान गणेश से ॐ ‘गं गणपतये नमः’ मंत्र का जाप करते हुए प्रार्थना करें।
इसके बाद एक केले का पत्ता लें, उस पर रोली का चौकोर आकार बना लें।
चौक के सामने वाले हिस्से पर घी का दीपक रखें।
पूजा के बाद चंद्रमा को शहद, चंदन, रोली मिश्रित दूध से अर्घ्य दें और व्रत तोड़ें।

यह भी पढ़ें –  उत्पन्ना एकादशी 2021: उत्पन्ना एकादशी व्रत 30 नवंबर को, जाने इसका महत्व और कथा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Latest Update