Global Statistics

All countries
594,375,416
Confirmed
Updated on August 13, 2022 3:25 pm
All countries
564,636,446
Recovered
Updated on August 13, 2022 3:25 pm
All countries
6,452,552
Deaths
Updated on August 13, 2022 3:25 pm

Global Statistics

All countries
594,375,416
Confirmed
Updated on August 13, 2022 3:25 pm
All countries
564,636,446
Recovered
Updated on August 13, 2022 3:25 pm
All countries
6,452,552
Deaths
Updated on August 13, 2022 3:25 pm

Sawan Puja Vidhi: सावन के महीने में भगवान शिव को प्रसन्न करने के लिए पूजा विधि

- Advertisement -
- Advertisement -

Sawan Puja Vidhi: सावन का महीना महादेव को प्रसन्न करने और उनका आशीर्वाद पाने का सबसे खास समय है। हिन्दू पंचांग के अनुसार सावन का महीना पांचवा महीना होता है। यह महीना भगवान शिव का सबसे प्रिय महीना है। सावन के महीने में भगवान शिव का जलाभिषेक करने और विधि विधान से उनकी पूजा करने का विशेष महत्व है। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार सावन के महीने में ही माता पार्वती ने घोर तपस्या करके भगवान शिव को पति के रूप में प्राप्त किया था। सावन के महीने में सोमवार का व्रत और महादेव की विशेष पूजा का विशेष महत्व है। सावन के महीने में जहां विवाहित महिलाएं अपने वैवाहिक जीवन को सुखी और समृद्ध बनाने के लिए व्रत और पूजा करती हैं, वहीं अविवाहित लड़किया अच्छे पति की कामना के लिए सावन सोमवार का व्रत रखकर भोले भंडारी की पूजा करती हैं। इस बार सावन का पावन महीना 14 जुलाई 2022 से शुरू होने जा रहा है। ऐसे में सावन के महीने में शिव की पूजा कैसे करें ताकि शिव की कृपा का अधिकतम लाभ प्राप्त हो सके।

Sawan Puja Vidhi –

सावन में भगवान शिव को प्रसन्न करने की पूजा विधि

सावन का महीना शिव पूजा के लिए सबसे अच्छा समय माना जाता है। ऐसा माना जाता है कि सावन के महीने में शिव की पूजा करने से भगवान शिव प्रसन्न होते हैं। वैसे भी कहा जाता है कि सभी देवी-देवताओं में भगवान शिव की पूजा सबसे आसान है। भोले भंडारी को सच्चे मन से चढ़ाया गया मात्र एक लोटा जल की काफी होता है। सावन के पावन महीने में महादेव को प्रसन्न करने के लिए तीन प्रकार के व्रत किए जाते हैं।

सावन सोमवार व्रत: शिव की पूजा के लिए सोमवार का दिन विशेष माना जाता है। ऐसे में सावन के पावन महीने में आने वाले सोमवार का महत्व काफी बढ़ जाता है। शिव की विशेष कृपा पाने के लिए सावन सोमवार का व्रत रखा जाता है।

16 सोमवार व्रत: शिव की पूजा के लिए सबसे उत्तम और पवित्र महीना सावन का होता है। ऐसे में जो भक्त अपनी मनोकामना प्राप्त करने के लिए व्रत रखना चाहता है। उसके लिए सोलह सोमवार का व्रत शुरू करने का यह समय बहुत ही शुभ है।

प्रदोष व्रत: प्रदोष व्रत जो सावन के महीने में पड़ता है, भगवान शिव और माता पार्वती का आशीर्वाद पाने के लिए बहुत महत्वपूर्ण है।

सावन व्रत और पूजा-विधि

सावन के महीने में सुबह जल्दी उठकर स्नान करें।

पास में स्थित शिव मंदिर के दर्शन करते समय गंगाजल और दूध से शिवलिंग का अभिषेक करें।

भगवान शिव की पूजा में बेलपत्र, धतूरा, गंगाजल और दूध अवश्य शामिल करें।

सावन के महीने में शिव के जलाभिषेक के दौरान “ओम् नमः शिवाय” मंत्र का जाप करें।

पूजा के अंत में भगवान शिव से अपनी सभी मनोकामनाएं पूरी करने की प्रार्थना करें और उनकी आरती करते हुए शिव चालीसा का पाठ करें।

सावन मास में सोमवार के व्रत की तिथि

गुरुवार, 14 जुलाई, श्रावण मास का पहला दिन
सोमवार, 18 जुलाई सावन सोमवार व्रत
सोमवार, 25 जुलाई सावन सोमवार व्रत
सोमवार, 01 अगस्त सावन सोमवार व्रत
सोमवार, 08 अगस्त सावन सोमवार व्रत
शुक्रवार, 12 अगस्त श्रावण मास का अंतिम दिन

यह भी पढ़ें – अगर सावन के महीने में इन मंत्रों का करेंगे जाप, तो चमक जाएगी आपकी किस्मत

Leave a Reply

spot_imgspot_img
spot_img

Latest Articles