Global Statistics

All countries
645,807,584
Confirmed
Updated on November 27, 2022 1:01 am
All countries
622,901,051
Recovered
Updated on November 27, 2022 1:01 am
All countries
6,635,646
Deaths
Updated on November 27, 2022 1:01 am

Global Statistics

All countries
645,807,584
Confirmed
Updated on November 27, 2022 1:01 am
All countries
622,901,051
Recovered
Updated on November 27, 2022 1:01 am
All countries
6,635,646
Deaths
Updated on November 27, 2022 1:01 am

क्या गर्भावस्था के दौरान शारीरिक संबंध बनाने से बच्चे को हो सकता है खतरा? क्या कहते है विशेषज्ञ

- Advertisement -

Sex During Pregnancy In Hindi: ऐसा कहा जाता है कि गर्भावस्था के दौरान सेक्स करने से बच्चे को नुकसान हो सकता है। शारीरिक संबंध अजन्मे बच्चे को चोट पहुँचा सकते हैं या प्रसव के दौरान समस्याएँ पैदा कर सकते हैं। गर्भावस्था के दौरान शारीरिक संबंध बनाने को लेकर लोगों के मन में कई सवाल होते हैं और आधी अधूरी जानकारी होती है।

Sex During Pregnancy In Hindi: गर्भावस्था के दौरान, महिला को सभी सावधानियां बरतने की सलाह दी जाती है। चलने-फिरने से लेकर उठने-बैठने तक गर्भवती को खान-पान पर विशेष ध्यान देने की जरूरत है। विशेषज्ञों के अनुसार गर्भवती महिला की मानसिक और शारीरिक स्थिति का असर गर्भ में पल रहे बच्चे पर भी पड़ता है। गर्भावस्था के दौरान अगर महिला तनाव में है तो बच्चे को नुकसान हो सकता है। महिला के प्रेग्नेंसी में आने के बाद उसे कई तरह की सलाह दी जाती है, जैसे पति के साथ शारीरिक संबंध न बनाना, या उससे कुछ महीनों दूर रहना। लोग गर्भावस्था के दौरान सेक्स करने को बच्चे के लिए खतरा मानते हैं। लोगों का कहना है कि गर्भावस्था के दौरान सेक्स करने से बच्चे को नुकसान हो सकता है। शारीरिक संबंध अजन्मे बच्चे को चोट पहुँचा सकते हैं या प्रसव के दौरान समस्याएँ पैदा कर सकते हैं। इसके अलावा प्रेग्नेंसी के पहले तीन महीनों में सेक्स करना भी जोखिम भरा बताया गया है। गर्भावस्था के दौरान शारीरिक संबंध बनाने को लेकर लोगों के मन में कई सवाल होते हैं और आधी अधूरी जानकारी होती है। विशेषज्ञ से जानें कि गर्भावस्था के दौरान सेक्स करना है या नहीं, इससे बच्चे को चोट लगने की कितनी संभावना है और प्रसव के दौरान क्या समस्याएं आ सकती हैं।

क्या गर्भावस्था के दौरान सेक्स करना चाहिए?

अगर आपको लगता है कि गर्भावस्था के दौरान सेक्स करने से गर्भवती को स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं होंगी या बच्चे को खतरा होगा, तो ऐसा नहीं है। विशेषज्ञ गर्भावस्था के दौरान सेक्स करने को जोखिम भरा नहीं मानते हैं। हालांकि, गर्भवती का स्वास्थ्य अच्छा होना चाहिए। स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉक्टर का कहना है कि अगर किसी महिला को प्रेग्नेंसी को लेकर कोई मेडिकल प्रॉब्लम नहीं है तो वह शारीरिक संबंध बना सकती है, हालांकि प्रेग्नेंट को एक बार अपने डॉक्टर से सलाह जरूर लेनी चाहिए।

क्या गर्भावस्था के पहले तीन महीनों में सेक्स कर सकते है?

गर्भावस्था के शुरुआती महीनों को जोखिम भरा माना जाता है। इसलिए लोग कहते हैं कि गर्भावस्था के पहले तीन महीनों में एक महिला को संभोग नहीं करना चाहिए। डॉ दीप्ति का कहना है कि शुरूआती दिनों में गर्भपात का खतरा ज्यादा रहता है, हालांकि इसका कारण शारीरिक संबंध नहीं बनाना है। जब प्रसव का दिन नजदीक आता है तो गर्भवती की हालत ऐसी हो जाती है कि संभोग के दौरान प्रसव पीड़ा हो सकती है। हालांकि, गर्भवती महिला के सेक्स करने के लिए कोई विशेष अवधि नहीं होती है।

क्या सेक्स करते समय बच्चे को चोट लग सकती है?

डॉ. दीप्ति का कहना है कि सेक्स करते समय गर्भ में शिशु सुरक्षित रहता है और शिशु को चोट लगने का कोई खतरा नहीं होता है। मां के गर्भ में कई परतें होती हैं, जो बच्चे को सुरक्षित रखती हैं। हालांकि ध्यान रखना चाहिए कि शारीरिक संबंध बनाने से गर्भवती को किसी तरह का इंफेक्शन का खतरा न हो। संभोग से महिला को नुकसान नहीं होने पर बच्चा सुरक्षित रहता है।

किस स्थिति में गर्भवती न बनाएं शारीरिक संबंध?

जब गर्भावस्था में कोई चिकित्सीय कारक न हो तो सेक्स करना सुरक्षित होता है। लेकिन अगर किसी महिला को प्लेसेंटा प्रिविया की शिकायत है, यानी महिला का प्लेसेंटा गर्भाशय के निचले हिस्से में है, तो गंभीर रक्तस्राव हो सकता है। ऐसे में गर्भवती को संभोग बिल्कुल नहीं करना चाहिए। यदि महिला को गर्भावस्था के दौरान किसी अन्य कारण से ब्लीडिंग या लीकेज हो रहा हो तो भी महिलाओं को शारीरिक संबंध बनाने से बचना चाहिए।

यह भी पढ़ें – डायबिटीज में फायदेमंद हैं ये सब्जियां, क्या आप करते हैं इनका सेवन?

यह भी पढ़ें – ऐसे लक्षण माने जाते हैं आयरन की कमी का संकेत, इन तीन चीजों को डाइट में शामिल कर आप पा सकते हैं लाभ

अस्वीकरण: भाग्यमत के स्वास्थ्य और फिटनेस श्रेणी में प्रकाशित सभी लेख डॉक्टरों, विशेषज्ञों और शैक्षणिक संस्थानों आधार पर तैयार किए गए हैं। लेख में उल्लिखित तथ्यों और सूचनाओं को भाग्यमत के पेशेवर पत्रकारों द्वारा सत्यापित किया गया है। इस लेख को तैयार करते समय सभी निर्देशों का पालन किया गया है। पाठक की जानकारी और जागरूकता बढ़ाने के लिए संबंधित लेख तैयार किया गया है। भाग्यमत लेख में दी गई जानकारी और जानकारी के लिए दावा या जिम्मेदारी नहीं लेता है। उपरोक्त लेख में वर्णित संबंधित बीमारी के बारे में अधिक जानकारी प्राप्त करने के लिए अपने चिकित्सक (डॉक्टर) से परामर्श जरूर करें।

Leave a Reply

spot_imgspot_img
spot_img

Latest Articles

%d bloggers like this: