Global Statistics

All countries
623,014,271
Confirmed
Updated on October 1, 2022 2:09 pm
All countries
601,335,724
Recovered
Updated on October 1, 2022 2:09 pm
All countries
6,549,445
Deaths
Updated on October 1, 2022 2:09 pm

Global Statistics

All countries
623,014,271
Confirmed
Updated on October 1, 2022 2:09 pm
All countries
601,335,724
Recovered
Updated on October 1, 2022 2:09 pm
All countries
6,549,445
Deaths
Updated on October 1, 2022 2:09 pm

Shardiya Navratri Kab Hai 2022: शारदीय नवरात्रि पर बना शुभ संयोग, जाने कलश स्थापना का शुभ मुहूर्त

- Advertisement -

Shardiya Navratri Kab Hai 2022: 26 सितंबर 2022 को कलश स्थापना के दिन बहुत अच्छा शुभ मुहूर्त का संयोग बन रहा है। इस दिन शुक्ल और ब्रह्म योग का शुभ संयोग रहेगा। ज्योतिष शास्त्र में इन योगों को पूजा और धार्मिक अनुष्ठानों के लिए बहुत शुभ माना जाता है।

Shardiya Navratri Kab Hai 2022: शारदीय नवरात्रि आश्विन मास के शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा तिथि से प्रारंभ होगी। हिंदू धर्म में नवरात्रि पर्व का विशेष महत्व है। इस साल शारदीय नवरात्रि 26 सितंबर सोमवार से शुरू होकर 05 अक्टूबर को विजयादशमी को समाप्त होगी। नवरात्रि पर्व के दौरान 9 दिनों तक मां दुर्गा के नौ अलग-अलग स्वरूपों की पूजा की जाएगी। पहले दिन कलश स्थापना के समय विधि विधान से मां दुर्गा की पूजा शुरू होगी और फिर अष्टमी और नवमी तिथि को कन्या पूजन किया जाएगा। ऐसा माना जाता है कि नवरात्रि में मां दुर्गा अपने भक्तों को आशीर्वाद देने के लिए स्वर्ग से धरती पर आती हैं। शारदीय नवरात्रि पर दुर्गा पूजा के लिए देश भर में भव्य पंडाल बनाए जाते हैं।

शारदीय नवरात्रि पर बनेगा शुभ संयोग

पितृ पक्ष की अमावस्या समाप्त होने के अगले दिन से शारदीय नवरात्रि शुरू हो जाती है। 25 सितंबर को सर्वपितृ अमावस्या है, फिर 26 सितंबर को शारदीय नवरात्रि शुरू होगी। शारदीय नवरात्रि के पहले दिन शुभ मुहूर्त में कलश की स्थापना की जाएगी. 26 सितंबर 2022 को कलश स्थापना के दिन बहुत ही शुभ मुहूर्त का संयोग बन रहा है। इस दिन शुक्ल और ब्रह्म योग का शुभ संयोग रहेगा। ज्योतिष शास्त्र में इन योगों को पूजा और धार्मिक अनुष्ठानों के लिए बहुत शुभ माना जाता है। इसके अलावा 03 अक्टूबर को अष्टमी तिथि मनाई जाएगी, उस दिन का मुहूर्त भी अत्यंत शुभ रहेगा।

इस नवरात्रि में हाथी है मां दुर्गा का वाहन

हर नवरात्रि में मां दुर्गा अलग-अलग वाहन पर सवार होकर आती हैं। इस बार आश्विन मास की शारदीय नवरात्रि पर मां दुर्गा हाथी पर सवार होकर आ रही हैं। शास्त्रों में जब मां दुर्गा हाथी पर सवार होकर आती हैं तो इसे एक शुभ संकेत माना जाता है। यह लोगों के जीवन में सुख-समृद्धि का सूचक है।

शारदीय नवरात्रि 2022 तिथि

प्रतिपदा तिथि का प्रारंभ – 26 सितंबर 2022 प्रातः 03:22 बजे
प्रतिपदा तिथि का समापन- 27 सितंबर 2022 प्रातः 03:09 बजे

कलश स्थापना का शुभ मुहूर्त

वैदिक पंचांग गणना के अनुसार 26 सितंबर को देवी की पूजा और कलश स्थापना का शुभ मुहूर्त प्रातः 06.11 बजे से प्रातः 07.51 बजे तक रहेगा। वहीं यदि आप इस मुहूर्त में किसी कारणवश कलश की स्थापना नहीं कर पाते हैं तो दूसरा शुभ मुहूर्त अभिजीत होगा, जो सुबह 11.49 बजे से 12.37 बजे तक रहेगा।

यह भी पढ़ें – Maa Durga Aarti: नवरात्रि में प्रतदिन करें मां अम्बे की यह आरती, पूर्ण होगी हर मनोकामना

यह भी पढ़ें – Sharadiya Navratri 2022: लहसुन और प्याज नवरात्रि में क्यों नहीं खाना चाहिए, जानिए क्या है मान्यता

Leave a Reply

spot_imgspot_img
spot_img

Latest Articles