Surya Grahan 2022: शनिचरी अमावस्या पर सूर्य ग्रहण, 3 राशि वाले न करें ये गलतियां, हो जाएंगे बर्बाद

Surya Grahan 2022: एक ही दिन पड़ने वाला सूर्य ग्रहण और शनिचरी अमावस्या एक बड़ी घटना है। 30 अप्रैल को साल का पहला सूर्य ग्रहण शनिचरी अमावस्‍या के दिन लगेगा, 3 राशियों के लोगों को बेहद सावधान रहना होगा।

हिंदू पंचांग के मुताबिक 30 अप्रैल, शनिवार को वैशाख मास के कृष्ण पक्ष की अमावस्या (Amavasya) है और इसी दिन साल का पहला सूर्य ग्रहण लग रहा है। जब शनिवार को अमावस्या आती है तो उसे शनिचारी अमावस्या कहते हैं। शनिचरी अमावस्या का हिंदू धर्म में बहुत महत्व है। इस दिन स्नान किया जाता है। दान किया जाता है, पितरों के लिए तर्पण किया जाता है।

सूर्य ग्रहण (Surya Grahan) और शनिचरी अमावस्या एक ही दिन

वर्ष 2022 का पहला सूर्य ग्रहण, शनि चारी अमावस्या के दिन पड़ना एक महत्वपूर्ण घटना है। हालांकि यह सूर्य ग्रहण आंशिक होगा और भारत में यह दिखाई नहीं देगा। इस कारण इस ग्रहण का सूतक काल मान्य नहीं होगा। इसलिए शनिचारी अमावस्या के दिन किए जाने वाले स्नान-दान, पूजा-तर्पण में कोई बाधा नहीं आएगी। लेकिन एक ही दिन सूर्य ग्रहण और शनिचरी अमावस्या का होना कुछ लोगों के जीवन पर बड़ा प्रभाव डालेगा। शनिवार का दिन शनि देव को समर्पित है, इसलिए इस दिन शनिदेव की विशेष पूजा भी की जाती है।

इन राशियों के लोग बेहद सावधान रहें

मेष

मेष राशि के लोगो पर सूर्य ग्रहण (Surya Grahan) का प्रभाव सही नहीं माना जा सकता है। इसलिए इन लोगों को इस दिन बहुत सावधान रहना चाहिए। यात्रा से भी बचना ही बेहतर होगा। ग्रहण के बाद स्नान करें।

कर्क

यह सूर्य ग्रहण कर्क राशि वालों को मानसिक तनाव दे सकता है. बेहतर होगा कि इस दौरान न तो कोई बड़ा फैसला लें और न ही किसी से विवाद करें। अपनी सोच को सकारात्मक रखने की कोशिश करें।

वृश्चिक

वृश्चिक राशि के जातकों के लिए भी यह सूर्य ग्रहण अच्छा नहीं है। इस समय को धैर्य से लें। इस दौरान यात्रा न करें अन्यथा आप चोट के शिकार हो सकते हैं।

यह भी पढ़ें – Chandra Grahan 2022: जल्द ही लगने वाला है चंद्र ग्रहण, जानिए चंद्र ग्रहण की तारीख और समय

यह भी पढ़ें – Surya Grahan 2022: सूर्य ग्रहण खत्म होने के बाद करें ये काम, दूर होगी नकारात्मकता

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Latest Update

Latest Update