Global Statistics

All countries
645,807,584
Confirmed
Updated on November 27, 2022 12:01 am
All countries
622,901,051
Recovered
Updated on November 27, 2022 12:01 am
All countries
6,635,646
Deaths
Updated on November 27, 2022 12:01 am

Global Statistics

All countries
645,807,584
Confirmed
Updated on November 27, 2022 12:01 am
All countries
622,901,051
Recovered
Updated on November 27, 2022 12:01 am
All countries
6,635,646
Deaths
Updated on November 27, 2022 12:01 am

डायबिटीज के मरीजों के लिए रामबाण हो सकती है ये आसान सी आदत, रहेगा ब्लड शुगर कंट्रोल में

- Advertisement -

डायबिटीज के लक्षण और निदान – मधुमेह विश्व स्तर पर तेजी से बढ़ती गंभीर स्वास्थ्य समस्याओं में से एक है। दुनिया भर में लाखों लोग इससे पीड़ित हैं। रक्त में ग्लूकोज की मात्रा में लगातार वृद्धि के कारण मधुमेह हो सकता है, जिसे विशेषज्ञ साइलेंट किलर डिजीज के रूप में भी वर्गीकृत करते हैं। यदि मधुमेह पर ध्यान न दिया जाए तो यह शरीर के कई अंगों को नुकसान पहुंचा सकता है, उच्च रक्त शर्करा के कारण बहु-अंगों के खराब होने का भी खतरा होता है। ऐसे में जिन लोगों को मधुमेह की समस्या है या जिनमें इसका खतरा है, विशेषज्ञ सभी लोगों को इसे नियंत्रण में रखने के उपाय करते रहने की सलाह देते हैं।

स्वास्थ्य विशेषज्ञों का कहना है कि खान-पान और जीवनशैली को सही रखकर मधुमेह को नियंत्रण में रखा जा सकता है। इसके अलावा कुछ बातों का ध्यान रखकर आप इसे बढ़ने से रोक सकते हैं।

हाल ही में हुई एक स्टडी में शोधकर्ताओं ने ऐसे ही एक बेहद असरदार तरीके के बारे में बताया है। जर्नल स्पोर्ट्स मेडिसिन में हाल ही में प्रकाशित एक अध्ययन में, शोधकर्ताओं ने बताया कि यदि आप भोजन के एक-डेढ़ घंटे के भीतर थोड़े समय के लिए चलने की आदत बना लेते हैं तो यह आपको टाइप -2 मधुमेह की जटिलताओं को कम करने में बहुत मददगार हो सकता है। आइए इस स्टडी के बारे में विस्तार से जानते हैं।

डायबिटीज के लक्षण और निदान

खाना खाने के बाद चलने की आदत बनाएं

शोधकर्ताओं का कहना है कि अक्सर हम सब खाने के बाद या तो तुरंत अपने काम पर चले जाते हैं या फिर रात को तुरंत सो जाते हैं। ऐसी आदत मेटाबॉलिज्म को प्रभावित कर सकती है, जिससे ब्लड शुगर लेवल बढ़ने का खतरा रहता है। इस आदत में थोड़ा सा बदलाव आपको गंभीर समस्याओं से बचा सकता है। भोजन के 60-90 मिनट के भीतर 10 मिनट की छोटी पैदल दूरी भी आपके मेटाबॉलिज्म को नियंत्रित रखने में मदद कर सकती है। ऐसी आदत बनाकर आप मधुमेह की कई जटिलताओं से खुद को सुरक्षित रख सकते हैं।

अध्ययन में क्या मिला?

मधुमेह को कैसे नियंत्रित किया जा सकता है, इस पर शोध करने वाले विशेषज्ञों की एक टीम ने सात अध्ययनों के निष्कर्षों की जांच की। इसमें इंसुलिन और ब्लड शुगर लेवल समेत हृदय की समस्याओं समेत कई अन्य पहलुओं पर विस्तार से नजर रखी गई। शोधकर्ताओं ने पाया कि भोजन के बाद दो से पांच मिनट तक चलने वाले प्रतिभागियों में अन्य लोगों की तुलना में उनके रक्त शर्करा के स्तर में बेहतर सुधार हुआ।

हालांकि शोधकर्ताओं का कहना है कि जिन लोगों को पहले से ही दिल की बीमारियों के साथ-साथ डायबिटीज की समस्या है, उन्हें खाना खाने के बाद टहलने के बारे में अपने डॉक्टर से जरूर सलाह लेनी चाहिए।

क्या कहते हैं शोधकर्ता?

यूनिवर्सिटी ऑफ लिमरिक में शारीरिक शिक्षा के प्रोफेसर, अध्ययन लेखक एडन बफेट के अनुसार, खड़े होने और चलने के दौरान स्वाभाविक तौर पर मांसपेशियों में संकुचन होता है, जिसके लिए शरीर के ग्लूकोज का उपयोग किया जाता है। भोजन के बाद ग्लूकोज का स्तर स्वाभाविक रूप से बढ़ जाता है, इसलिए यदि आप ग्लूकोज के शिखर पर पहुंचने से पहले हल्के स्तर की शारीरिक गतिविधि करते हैं, आमतौर पर भोजन के 60 से 90 मिनट भीतर, यह ग्लूकोज स्पाइक्स को नियंत्रित करने का सबसे कारगर तरीका हो सकता है।

छोटी-छोटी आदतों के बड़े फायदे

टेक्सास के ह्यूस्टन मेथोडिस्ट अस्पताल के कार्डियोलॉजिस्ट केर्शव पटेल कहते हैं, अक्सर हम ऐसी छोटी-छोटी बातों पर ज्यादा ध्यान नहीं देते, लेकिन सेहत के लिए इनसे खास फायदा हो सकता है. जैसे-जैसे पूरी दुनिया में डायबिटीज के मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है, ऐसे मेंइस तरह के छोटे-छोटे तरीके आपको बड़े लाभ दे सकते हैं।

मधुमेह मेटाबॉलिज्ममें गड़बड़ी के कारण होने वाली समस्या है और खाने के बाद चलने की आदत बनाकर आप लाभ प्राप्त कर सकते हैं। डायबिटीज न होने पर भी बनाएं ये आदत, ये आपकी सेहत को कई तरह से फायदा पहुंचा सकती है।

यह भी पढ़ें –  बेहतर स्वास्थ्य की कुंजी है ‘हल्दी का दूध’, अच्छी नींद लेने के लिए इम्युनिटी बढ़ाने में है मददगार

यह भी पढ़ें –  ऐसे लक्षण माने जाते हैं आयरन की कमी का संकेत, इन तीन चीजों को डाइट में शामिल कर आप पा सकते हैं लाभ

अस्वीकरण: भाग्यमत के स्वास्थ्य और फिटनेस श्रेणी में प्रकाशित सभी लेख डॉक्टरों, विशेषज्ञों और शैक्षणिक संस्थानों आधार पर तैयार किए गए हैं। लेख में उल्लिखित तथ्यों और सूचनाओं को भाग्यमत के पेशेवर पत्रकारों द्वारा सत्यापित किया गया है। इस लेख को तैयार करते समय सभी निर्देशों का पालन किया गया है। पाठक की जानकारी और जागरूकता बढ़ाने के लिए संबंधित लेख तैयार किया गया है। भाग्यमत लेख में दी गई जानकारी और जानकारी के लिए दावा या जिम्मेदारी नहीं लेता है। उपरोक्त लेख में वर्णित संबंधित बीमारी के बारे में अधिक जानकारी प्राप्त करने के लिए अपने चिकित्सक (डॉक्टर) से परामर्श जरूर करें।

Leave a Reply

spot_imgspot_img
spot_img

Latest Articles

%d bloggers like this: