बारिश से UP बेहाल: कहीं सड़कें डूबी तो कहीं पर गिरे पेड़, कहीं तो घरों से भी निकलना हो गया मुश्किल, पढ़िए कैसा है आपके शहर का हाल

बारिश के कारण फतेहपुर में गिरा मकान, 2 बच्चियों की मौत

फतेहपुर के सुल्तानपुर घोष थाना क्षेत्र के दरियापुर गांव निवासी राकेश घर के बाहर एक शेड के नीचे अपनी पत्नी के साथ सो रहा था। जबकि उसकी बेटियां घर के अंदर एक कोठरी में सो रही थीं। रात में अचानक कोठरी गिर गई। इससे दोनों बच्चियां मलबे में दब गईं। पड़ोसियों की मदद से जब मलबा हटाया गया तो पता लगा कि दोनों की मृत्यु हो चुकी है।

चित्रकूट में दीवार गिरने के कारण मलबे में दबकर मासूम की मौत

चित्रकूट के मऊ में 36 घंटे से हो रही मूसलाधार बारिश के चलते एक छोटा सा कच्चा मकान ढह गया. दुर्घटना के समय छोटाई और उसकी पत्नी घर का काम कर रहे थे। एक बेटी और एक बेटा बाहर खेल रहे थे। जबकि दूसरा लड़का घर में सो रहा था। इस दौरान बारिश के कारण दीवार गिर गई, जिससे मलबे में दबने से एक वर्षीय सत्यम की मौत हो गई।

लखनऊ में कई जगह गिरे पेड़

लखनऊ में ठंडी हवा, काले बादल और लगातार बारिश ने तापमान में काफी गिरावट ला दी है। बुधवार को तापमान 30 डिग्री से नीचे चला गया। अधिकतम तापमान 29.6 डिग्री सेल्सियस रहा, जो सामान्य से 3.3 डिग्री कम था। न्यूनतम तापमान 27.1 डिग्री सेल्सियस रहा, जो सामान्य से 2.6 डिग्री अधिक था। वहीं राजधानी में कई जगह पेड़ भी गिरे, जिससे कई रास्ते बाधित हुए। इससे यातायात प्रभावित हो रहा है। कई जगह सड़कें जलमग्न हो गई हैं।

इन इलाकों में बनी जलजमाव की समस्या

तापमान में गिरावट से लोगों को भीषण गर्मी से राहत मिली। इटावा, उन्नाव, फतेहपुर, कानपुर देहात, कन्नौज, चित्रकूट, महोबा, बांदा में भी रुक-रुक कर बारिश हो रही है। बारिश के कारण अकबरपुर अंडरपास स्क्वायर, नबीपुर, रानिया, रूरा, शिवली, पुखरायण, झिंझक, रसूलाबाद सहित अन्य कस्बों और ग्रामीण इलाकों में लोगों को जलजमाव की समस्या का सामना करना पड़ा।

वाराणसी में लगातार बारिश से बीएचयू अस्पताल में जलजमाव

वाराणसी में गुरुवार को भी लगातार दूसरे दिन बारिश जारी रही। कल से 95 मिमी बारिश हो चुकी है। बारिश के कारण शहर के मुख्य चौराहों से लेकर कॉलोनी की सड़कों पर जलजमाव हो गया है। जिससे लोगों को आवागमन में परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। वहीं बीएचयू अस्पताल में जलभराव से मरीजों व तीमारदारों को भी काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। राज्य में लगातार हो रही बारिश से गंगा का जलस्तर भी फिर से बढ़ने लगा है। बारिश से मौसम भी साफ हो गया है।
.
गोरखपुर में बारिश बनी आपदा

गोरखपुर में बुधवार रात से गुरुवार की सुबह तक 100 मिमी बारिश शहर के लोगों के लिए आपदा बन गई है। इससे मुख्य सड़कों से लेकर सड़कों तक पानी भर गया है। और घरों में पानी भर गया है। बारिश का पानी घरों में भर जाने से लोगों की परेशानी बढ़ गई है। वहीं, शहर के ज्यादातर इलाकों में सड़क पर घुटनों से भरा पानी होने से लोगों को आने-जाने में परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। सड़क पर जलजमाव के कारण सड़क गड्ढे में तब्दील हो गई है। जिससे कई राहगीर गिरकर घायल भी हो गए हैं।

आगरा में लोगों को मिली राहत

ताजनगरी सावन में सूखी रही पर भादों में लोगों को बारिश और मौसम ने राहत दी है। आगरा में गुरुवार सुबह से बादल छाए हुए तेज हवा चल रही है। हवा की ठंडक ने गर्मी और उमस से राहत दिलाई। बारिश नहीं हुई लेकिन हवा ने तापमान को नीचे ला दिया। गुरुवार की सुबह तापमान 25 डिग्री के आसपास था।

यह भी पढ़ें –  सोशल मीडिया: जानिए क्यों ट्रेंड कर रहा है #BoycottShahRukhKhan? पाकिस्तान से यह है कनेक्शन

यह भी पढ़ें –  दिल्ली: मनी लॉन्ड्रिंग के मामले में मानवाधिकार कार्यकर्ता हर्ष मंदर के ठिकानो पर ईडी का छापा

(UP, UP News, UP News In Hindi)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *