Vastu Shastra: सोते समय भूल कर भी न करें ये गलतियां, नहीं तो हो सकता है भारी नुकसान

- Advertisement -

Vastu Shastra: वास्तु शास्त्र में दिशा का बहुत महत्व होता है। ऐसा माना जाता है कि अगर घर का वास्तु सही हो तो व्यक्ति के जीवन में खुशियां बनी रहती हैं। वास्तु के अनुसार यदि भवन का निर्माण दिशाओं को ध्यान में रखकर किया जाता है तो व्यक्ति को भाग्य का साथ मिलता है। सभी कार्य सफल होते हैं और घर में समृद्धि आती है। वहीं दूसरी ओर गलत वास्तु का व्यक्ति की दिनचर्या पर बुरा प्रभाव पड़ता है। वास्तु शास्त्र (Vastu Shastra) में न केवल घर की सही दिशा या वस्तुओं के बारे में बल्कि हमारे सोने और खाने की दिशा के बारे में भी विस्तार से बताया गया है। वास्तु के अनुसार सोते समय भी सही दिशा का ध्यान रखना बहुत जरूरी है। नहीं तो जीवन में नींद न आने की समस्या के साथ-साथ नकारात्मकता भी बढ़ सकती है। रात को सोते समय आपका सिर किस दिशा में होता है। यह आपके जीवन और प्रगति को भी प्रभावित करता है। इसलिए जरूरी है कि आप अपने सोने की दिशा का विशेष ध्यान रखें।

बहुत से लोगों को सोने के सही तरीके और दिशा का ज्ञान नहीं होता है। जिसके कारण वे कहीं भी सिर और पैर रखकर सो जाते हैं। वास्तु के अनुसार इससे मानसिक तनाव और जीवन में परेशानियां बढ़ सकती हैं। ऐसे में चलिए जानते हैं आज वास्तु अनुसार सोने की सही दिशा व तरीका के बारे में …

सोते समय रखें इन बातों का ख्याल

वास्तु शास्त्र के अनुसार कभी भी उत्तर दिशा में सिर और दक्षिण दिशा में पैर रखकर नहीं सोना चाहिए। इससे नींद ठीक से नहीं आती है और यह स्थिति सिरदर्द, मानसिक रोग का कारण बन सकती है। इसके अलावा कहा जाता है कि दक्षिण दिशा में पैर रखकर सोने से आयु कम होती है।

वहीं दक्षिण की ओर सिर और उत्तर की ओर पैर करके सोना सबसे शुभ माना जाता है। यह दिशा सोने के लिए सबसे अच्छी मानी जाती है। ऐसा करने से व्यक्ति स्वस्थ रहता है और उसके जीवन में भी वृद्धि होती है।

इसके अतिरिक्त पूर्व दिशा में सिर करके सोने से व्यक्ति की याददाश्त, एकाग्रता बढ़ती है। जो लोग पूर्व दिशा में सिर करके सोते हैं उनका स्वास्थ्य बेहतर होता है। ऐसा माना जाता है कि छात्रों और अध्यात्म की ओर झुकाव रखने वाले लोगों को पूर्व दिशा में सिर करके सोना चाहिए।

साथ ही पश्चिम दिशा में सिर करके सोना सही माना जाता है। धार्मिक मान्यता के अनुसार यह दिशा जल के देवता वरुण की दिशा है। इस दिशा में सिर करके सोने से व्यक्ति को यश, कीर्ति और मान सम्मान मिलता है।

यह भी पढ़ें – नवरात्रि के दिनों में बहुत ही चमत्कारी है वास्तु के ये टिप्स, बस घर में कर लें ये 10 बदलाव

यह भी पढ़ें – वास्तु शास्त्र: घर में कभी भी ऐसे न रखें जूते-चप्पल, पड़ता है हानिकारक प्रभाव

- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Latest Update

Latest Update