विदुर नीति: अकेले नहीं करना चाहिए ये काम, नहीं तो उठाना पड़ सकता है नुकसान

Vidur Niti: दासी का पुत्र होने के बाद भी विदुर अपनी बुद्धिमानी से हस्तिनापुर के महामंत्री बने। विदुर धर्मराज के अवतार थे। शत्रु भी उनका सम्मान करते थे। महाभारत के युद्ध को रोकने के लिए विदुर ने राजा धृतराष्ट्र को बहुत समझाया, लेकिन अपने पुत्र के मोह में फंसे धृतराष्ट्र ने उनकी एक न सुनी। जिसका परिणाम यह हुआ कि महाभारत के युद्ध में सब कुछ नष्ट हो गया। भगवान कृष्ण भी विदुर के विचारों का सम्मान करते थे। उनकी शिक्षाएं विदुर नीति (Vidur Niti) में निहित हैं। जानिए आज की विदुर नीति-

ये काम अकेले नहीं करना चाहिए

राजा धृतराष्ट्र ने एक बार पूछा था कि विदुर समूह में कौन सा काम करना सबसे अच्छा है। इस पर विदुर ने यह कहते हुए उत्तर दिया कि महाराज व्यक्ति को इन कार्यों को कभी भी अकेले नहीं करना चाहिए। जैसे मनुष्य को अकेले स्वादिष्ट भोजन नहीं करना चाहिए। दूसरा व्यक्ति को बड़ा काम करने से पहले स्वयं निर्णय नहीं लेना चाहिए, तीसरे व्यक्ति को कभी भी अकेले यात्रा नहीं करनी चाहिए और चौथे व्यक्ति को कभी भी अकेले उस स्थान पर नहीं जागना चाहिए जहां सभी सो रहे हों।

राजा ने विदुर से कुछ और प्रकाश डालने को कहा। विदुर ने कहा कि स्वादिष्ट खाना एक साथ खाने से संबंध प्रगाढ़ होता है। कोई भी बड़ा काम करने से पहले रिश्तेदारों और दोस्तों के साथ सोच-विचार जरूर करना चाहिए। अकेले यात्रा नहीं करनी चाहिए क्योंकि संकट होने पर मदद के लिए कोई होना चाहिए और अकेले जागना जहां हर कोई सो रहा है, संदेह पैदा कर सकता है। जो व्यक्ति को परेशानी में भी डाल सकता है।

ऐसे लोगों के साथ गुप्त बातें नहीं करनी चाहिए

विदुर नीति के अनुसार हर किसी से गुप्त सलाह नहीं लेनी चाहिए। आपको अपनी गंभीर बातें भी भरोसेमंद लोगों से साझा करनी चाहिए। अगर आपने इस पर ध्यान नहीं दिया तो आप मुसीबत में पड़ सकते हैं। विदुर नीति के अनुसार अदूरदर्शी, दूरदर्शी और जल्दबाजी करने वाले लोगों से कभी भी गुप्त सलाह नहीं लेनी चाहिए। जो लोग ऊँचे पदों पर हैं उन्हें ऐसे लोगों को तुरंत त्याग देना चाहिए। ऐसे लोगों से हमेशा सावधान रहना चाहिए।

यह भी पढ़ें – गरुड़ पुराण: अगले जन्म में चकवा पक्षी बनते है ऐसे लोग, जो पत्नी पर लगाते हैं ये आरोप

यह भी पढ़ें –  चाणक्य नीति: इन लोगों को परेशान करने से रूठ सकतीं हैं देवी लक्ष्मी, जानिए क्या कहती है चाणक्य नीति

4 COMMENTS

  1. Hola! I’ve been following your weblog for some time now and finally got the courage to go ahead and give you a shout out from Dallas Tx! Just wanted to tell you keep up the great work!

  2. I’d have to examine with you here. Which is not one thing I usually do! I take pleasure in reading a post that may make folks think. Additionally, thanks for permitting me to comment!

  3. magnificent submit, very informative. I ponder why the opposite specialists of this sector do not realize this. You must proceed your writing. I’m sure, you have a huge readers’ base already!

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Latest Update

Latest Update