Vijayadashami

Vijayadashami 2022 Upay: हिंदू धर्म में विजयादशमी का खास महत्व है। यह त्योहार बुराई पर अच्छाई की जीत के उपलक्ष्य में मनाया जाता है। हर साल आश्विन मास की शुक्ल पक्ष की दशमी को दशहरा का पर्व मनाया जाता है। विजयादशमी यानि दशहरे के दिन भगवान श्री राम ने रावण पर विजय प्राप्त की थी और उसका वध किया था। तब से हर साल दशहरा यानि विजयादशमी (Vijayadashami) के दिन लोग रावण का पुतला जलाकर बुराई पर अच्छाई की जीत का जश्न मनाते हैं। हर साल यह त्यौहार पूरे देश में धूमधाम से मनाया जाता है। इस साल दशहरा 05 अक्टूबर को मनाया जाएगा। इसके अलावा शारदीय नवरात्र के बाद उसी दिन मां दुर्गा की मूर्ति का भी विसर्जन किया जाएगा। मान्यता है कि दशमी के दिन मां दुर्गा ने महिषासुर का वध भी किया था। ऐसे में कहा जाता है कि इस दिन विजय मुहूर्त में शुरू किया गया कोई भी कार्य लाभकारी होता है। साथ ही इस दिन किए गए कुछ उपाय जीवन में समृद्धि लाते हैं। आइए जानते हैं उन उपायों के बारे में…

समृद्धि के उपाय

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार विजयादशमी के दिन घर की उत्तर-पूर्व दिशा में रोली, कुमकुम या लाल फूलों से रंगोली या अष्टकमल की आकृति बनानी चाहिए। मान्यता है कि ऐसा करने से मां लक्ष्मी प्रसन्न होती हैं। साथ ही घर में सुख-समृद्धि आती है।

नौकरी में उन्नति के उपाय

विजयदशमी के दिन मां दुर्गा की पूजा करते समय ‘ओम विजयायै नम:’ मंत्र का जाप करें। साथ ही मां अम्बे को 10 तरह के फल चढ़ाएं। फिर इन फलों को प्रसाद के रूप में बांटें। साथ ही इस दिन झाड़ू खरीदकर मंदिर में दान करें। माना जाता है कि इससे नौकरी और व्यापार में वृद्धि होगी।

व्यापार वृद्धि के लिए

यदि आप व्यापार में उन्नति करना चाहते हैं तो दशहरे के दिन नारियल को पीले कपड़े में लपेट कर रखें। इस नारियल को एक जोड़े जनेऊ, पान और मिठाई के साथ राम मंदिर में चढ़ाएं। इससे आपको बिजनेस में ग्रोथ मिलेगी।

भाग्य के उपाय

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार दशहरे के दिन नीलकंठ के दर्शन करना शुभ माना जाता है। कहा जाता है कि ऐसा करने से सौभाग्य की प्राप्ति होती है।

यह भी पढ़ें – नवरात्रि पर करें ये उपाय, घर में रहेगी सुख-समृद्धि और मिलेगी परेशानियों से मुक्ति

यह भी पढ़ें – Shardiya Navratri 2022: इस साल कितने दिन की है शारदीय नवरात्रि? जान लें सही तिथि

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *