नए-नए खुलासे एंटीलिया केस और मनसुख हिरेन मर्डर मामले में हो रहे हैं। आज शिवसेना नेता और मुंबई के पूर्व एनकाउंटर स्पेशलिस्ट प्रदीप शर्मा के घर पर एनआईए (NIA) की टीम छापेमार कार्रवाई कर रही है।  घंटों पूछताछ के बाद प्रदीप शर्मा को एनआईए (NIA) ने गिरफ्तार कर लिया गया है। बताया जा रहा है कि एनआईए के रडार पर प्रदीप शर्मा काफी समय से चल रहे थे। लेकिन प्रदीप शर्मा के खिलाफ जांच एजेंसी के पास पूख्ता सबूत नहीं थे। अब ठोस सबूत एनआईए (NIA) के पास मिले हैं ।

उसके बाद  एनआईए (NIA) की टीम ने मुंबई के अंधेरी के जेपी नगर इलाके में भगवान भवन बिल्डिंग की छठी मंजिल पर स्थित प्रदीप शर्मा के आवास पर इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस की जांच की। कई सबूत जांच के दौरान मिले। एजेंसी ने उसके बाद उन्हें गिरफ्तार कर लिया।  एनआईए (NIA) के साथ सीआरपीएफ की टीम भी प्रदीप शर्मा के आवास पर मौजूद है। कुछ महिला अधिकारी भी शामिल हैं।

जांच एजेंसी के रडार पर प्रदीप शर्मा कैसे आए?

बताया जा रहा है कि सचिन वझे और एक शख्स के बीच मनसुख के मर्डर से कुछ दिन पहले अंधेरी इलाके में स्थित एक बैठक हुई थी। इसी इलाके में प्रदीप शर्मा भी रहते हैं। जांच एजेंसी को आशंका है सचिन वझे और शर्मा के बीच मीटिंग हुई। इसके अलावा सचिन वझे और विनायक शिंदे बांद्रा वर्ली सी लिंक पर एक सीसीटीवी फुटेज में कार में बैठे दिखाई दिए। एजेंसी का मानना है कि अंधेरी में ये दोनों शर्मा से मिलने ही जा रहे थे। क्योंकि जिस नंबर से मनसुख हिरेन को कॉल कर बुलाया गया। उसका आखिरी लोकेशन भी अंधेरी का जेबी नगर था।

प्रदीप शर्मा के सचिन वाझे, शिंदे समेत कई अधिकारियों से रहे हैं संपर्क

एंटीलिया केस का मुख्य सूत्रधार होने का आरोप सचिन वाझे पर है। राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने 15 मार्च को निलंबित पुलिस अधिकारी सचिन वाझे को गिरफ्तार कर लंबी पूछताछ की थी। जिसमें उसने कई खुलासे किए थे। किसी से पूर्व एनकाउंटर स्पेशलिस्ट प्रदीप शर्मा और सचिन वाझे की नजदीकी छिपी नहीं है।
कई आरोप प्रदीप शर्मा पर लगे हैं। इसके अलावा  प्रदीप शर्मा का मनसुख हिरेन की हत्या के केस में गिरफ्तार पूर्व कॉन्स्टेबल विनायक शिंदे भी करीबी रहा है। संतोष सेल्लार और आनंद जाधव की गिरफ्तारी हाल ही में हुई थी। बताया जा रहा है संतोष सेल्लार से प्रदीप शर्मा की गहरी दोस्ती थी।

पहले भी लग चुके हैं प्रदीप शर्मा पर आरोप

1983 बैच के प्रदीप शर्मा आईपीएस अधिकारी हैं। प्रदीप शर्मा मुंबई में यह एनकाउंटर स्पेशलिस्ट के तौर पर जाने जाते थे। हालांकि प्रदीप शर्मा पर पहले भी इनका अंडरवर्ल्ड के साथ तार जुड़े हुए थे। प्रदीप शर्मा, विनायक शिंदे समेत पूरी टीम पर छोटा राजन के गुर्गे लखन भैया का फर्जी एनकाउंटर करने का आरोप लगा था। शर्मा को इस मामले में सस्पेंड भी किया गया था। पर वे कोर्ट से बाद में बरी हो गए थे।   शिवसेना के टिकट पर  2019 में प्रदीप शर्मा नालासपोरा से चुनाव भी लड़ चुके हैं।

क्या एंटीलिया मामला

मुकेश अंबानी के घर एंटीलिया के बाहर 25 फरवरी को विस्फोटक से भरी एक स्कॉर्पियो बरामद हुई थी। जिसमें एक धमकी भरा नोट व 20 जिलेटिन की छड़ें मिली थी ।   वाहन मालिक मनसुख हिरण की इस मामले में मौत हो चुकी है। एनआईए इस मामले की जांच कर रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *