World Heart Day 2021: हमारे आस-पास मौजूद लगभग हर दूसरा व्यक्ति किसी न किसी बीमारी से ग्रसित है। फर्क सिर्फ इतना है कि कोई बहुत गंभीर बीमारी का शिकार होता है। तो कोई सामान्य बीमारी का। लेकिन आज की भागदौड़ भरी जिंदगी में आपको बड़ी संख्या में दिल के मरीज मिल जाएंगे। हृदय रोग बहुत घातक होते हैं। और रोगी पर भीतर से आक्रमण करते हैं। विश्व हृदय दिवस (World Heart Day) हर साल 29 सितंबर को मनाया जाता है। जिसका उद्देश्य लोगों को दिल से जुड़ी बीमारियों के प्रति जागरूक करना है। उन्हें बताना है कि वे अपने दिल का ख्याल कैसे रख सकते हैं क्योंकि जब दिल सुरक्षित होता है। तभी व्यक्ति स्वस्थ होता है। आम तौर पर लोग जानते हैं कि जब सीने में दर्द होता है। तभी दिल का दौरा पड़ने का खतरा हो सकता है। लेकिन दिल के और भी कई लक्षण हो सकते हैं। जिन्हें जानना बेहद जरूरी है। तो आइए आपको इसके बारे में बताते हैं।

साँसों का फूलना

हम सभी जानते हैं कि सीने में दर्द और सांस लेने में तकलीफ दिल की विफलता के सबसे आम लक्षण हैं। लेकिन अगर आप कुछ सीढ़ियां चढ़ते ही थक जाते हैं और आपको सांस लेने में तकलीफ होने लगती है और बैठने पर भी आपको परेशानी होती है। तो यह इस बात का संकेत हो सकता है कि आपको हृदय रोग हो सकता है।

पीठ के ऊपरी हिस्से में दर्द

जब दिल का दौरा पड़ता है। तो रोगी को पीठ के ऊपरी हिस्से में दर्द का अनुभव होता है। लेकिन अगर इसके साथ ही आपको सीने में किसी भी तरह की परेशानी हो रही हो। भारीपन महसूस हो रहा हो। जी मिचलाना या उल्टी जैसा महसूस हो रहा हो तो यह भी हार्ट अटैक का संकेत हो सकता है।

भूख में कमी, सूजन

जब किसी व्यक्ति की हृदय गति रुकने की स्थिति बढ़ने लगती है। तो उसे भूख कम लगने लगती है। बार-बार पेशाब आने लगता है और साथ ही हृदय भी बहुत तेज धड़कने लगता है। कभी-कभी हम इन लक्षणों को नज़रअंदाज़ कर देते हैं। लेकिन ये दिल की विफलता के संकेत हो सकते हैं। इसलिए उनका ख्याल रखना चाहिए।

ऐसे रखें ध्यान

  • हाई कैलोरी फूड खाने से बचना चाहिए।
  • दिल को स्वस्थ रखने के लिए अखरोट, बादाम, अलसी, सोयाबीन और सालमन मछली का सेवन किया जा सकता है।
  • नियमित रूप से व्यायाम करना चाहिए
  • समस्या होने पर तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें और बिना डॉक्टर की सलाह के दवा न लें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *